नई दिल्ली । जेट एयरवेज का संचालन बंद होने और ‎विमान के किरायों में लगभग 25 फीसदी की बढ़ोतरी होने से पर्यटन उद्योग चिंतित हो गया है। कंपनी विशेषज्ञों का कहना है कि इससे बड़े पैमाने पर होटलों की बुकिंग कैंसल होने का खतरा बढ़ गया है। पर्यटन के कारोबार से जुड़ी एक साइट का कहना है कि जेट एयरवेज बंद होने के बाद मुंबई-हैदराबाद, मुंबई-दिल्ली और दिल्ली-मुंबई के बीच फ्लाइट्स के किराये क्रमश: 62 फीसदी, 52 फीसदी और 49 फीसदी तक बढ़ गए हैं। बेंगलुरु-दिल्ली सेक्टर में सबसे कम 10 फीसदी का असर पड़ा है। यह संकट तब आया है जब पीक सीजन शुरू होने वाला है। लगता है कि यह संकट पूरे साल बना रहेगा। बढ़े किरायों की वजह से हमारा कारोबार प्रभा‎वित होगा। गौरतलब है ‎कि जेट एयरवेज की उड़ान सेवाएं बंद होने से देश और विदेश में इस एयरलाइंस से यात्रा करने वाले लाखों या‎त्रियों की भी परेशानी बढ़ गई। यह एयरलाइंस विदेशों को भी अपनी फ्लाइट्स भेजती थी।