कैंट के पास रौलो गांव के खेतों में बुधवार तड़के 4:30 बजे लड़ाकू विमान से 2 फ्यूल टैंक गिर गए। इससे धमाके जैसी आवाज आई। लोग डर गए। सूचना के बाद सुबह 5:30 बजे महेशनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद एयरफोर्स व सेना को मामले की जानकारी दी। सेना व एयरफाेर्स के अधिकारी माैके पर पहुंचे। 9 बजे सेना के जवान अलग-अलग खेतों में गिरे दोनों फ्यूल टैंकों को गाड़ियों में लोड कर ले गए। 


लड़ाकू विमान में दाे एक्स्ट्रा फ्यूल टैंक होते हैं, इमरजेंसी में गिराए जाते हैं फाइटर विमान में दो अतिरिक्त फ्यूल टैंक होते हैं। जिन्हें ड्राॅप फ्यूल टैंक कहा जाता है। आपात स्थिति में इन्हें नीचे गिरा दिया जाता है। स्थानीय निवासी जिले देवी ने बताया कि विमान काफी नीचे उड़ रहा था और पीछे की तरफ से आग की लपटें निकल रही थीं। तभी विमान से खेताें में कुछ गिरने से धमाका हुआ।