उत्तर प्रदेश से एक बड़ी खबर सामने आई है, जहां पूरी बारत को बिना दुल्हन लिए वापस गांव लौटना पड़ा. इस घटना से आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई है. लोग पूरे मामले को जानने के लिए फोन कर एक-दूसरे से पूछ रहे हैं. अदसल, कन्नौज जिला स्थित चपुन्ना क्षेत्र के इंदिरानगर गांव निवासी रामपाल की पुत्री रीना की शादी फिरोजाबाद जनपद के दयापुर गांव निवासी रामेश्वरदयाल के पुत्र हरवीर के साथ तय हुई थी. बुधवार यानि 8 मई को धूमधाम के साथ बारात भी निकली. लड़की पक्ष के यहां बारातियों ने खाना भी खाया. पण्डित जी शादी कराने के लिए दुल्हन-दूल्हे को लेकर मंडप पर बैठने ही वाले थे, लेकिन अचानक कुछ ऐसा हुआ कि दुल्हन ने शादी करने साफ इनकार कर दिया.

दरअसल, जयमाल के बाद भांवरों की रस्में भी शुरू होनी थी. इसी बीच किसी ने लड़की को दूल्हे के बारे में कुछ बता दिया. इसके बाद दुल्हन के होश उड़ गए. उसने तुरंत शादी करने से इनकार कर दिया. कहा जा रहा है कि गांव के कुछ लोगों की नजर दूल्हे के पैर पर पड़ी. फिर क्या था पूरे गांव में दूल्हे को लेकर चर्चा शुरू हो गई.

जब लोगों ने दूल्हे के पैर को देखा तो सभी के होश उड़ गए. लोगों ने देखा कि लड़के के पैर में सरिया पड़ी है. यही वजह थी कि सच्चाई जानकर दुल्हन ने शादी करने से इनकार कर दिया . हालांकि लोगों ने दुल्हन को शादी के लिए काफी मनाने की कोशिश की पर वह अपनी बात पर अडिग रही. इसी दौरान गांव में पुलिस भी पहुंच गई. पुलिस ने भी समझौता करवाने की कोशिश की लेकिन लड़की ने शादी करने से इनकार कर दिया.

बाद में लड़की के पिता रामपाल ने समझौते के तौर पर एक अंगूठी, एक जोड़ी पायल, मोबाइल और 17 हजार रुपये वर पक्ष को दिए. इसके बाद दोनों पक्षों ने समझौता लिखकर दे दिया. बरात को बिना दुल्हन के लौटना पड़ गया. दुल्हन की माने तो दूल्हा नहाने के लिए गांव के गया था. इसी दौरान नहाते हुए कुछ लोगों ने देखा कि लड़के के पैर में सरिया पड़ी है.