मॉडल टाउन के व्यवसायी की कोठी में नौकरानी 19 वर्षीय युवती की मौत हो गई। कोठी मालिक का दावा है कि उसने फंदा लगाकर जान दी। वहीं, मृतका की मां ने कोठी मालिक पर बेटी को पीट-पीटकर मार डालने फिर फंदे पर लटकाने का आरोप लगाया है। पीडि़त मां के मुताबिक, बेटी का दांत टूटा हुआ था, होठ व शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान थे। नाक से खून बह रहा था। मंगलवार को डॉक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया जाएगा। 

मूलरूप से उप्र के गोंडा जिले के बहादुरपुर गांव निवासी मृतका की मां सुनीता ने बताया कि वह यहां पति अंगद के साथ ईदगाह कॉलोनी में किराये के मकान में रहती हैं। वह और पति दोनों फैक्ट्री में काम करते हैं। पांच भाई-बहनों में पूजा सबसे बड़ी थी। साढ़े तीन साल से पूजा मॉडल टाउन के सोनी अस्पताल के पास व्यवसायी योगेश की कोठी में झाडू-पोछा व खाना बनाने का काम करती थी और वहीं रहती थी। उसे चार हजार रुपये महीना वेतन मिलता था। 

टूटे हुए थे बेटी के दांत, मुंह और आंख से बह रहा था खून
सुनीता ने बताया कि रविवार शाम को कोठी मालकिन योगेश की पत्नी ममता ने फोन किया कि जबसे पूजा की शादी तय हुई है, तब से उसका काम में मन नहीं लगता और वह रो रही है। थोड़ी देर बाद ममता कार लेकर उनके घर पहुंची और बताया कि पूजा बेहोश है। वह कोठी में पहुंची तो बेटी फर्श पर खून से लथपथ पड़ी थी। उसके मुंह और आंख से खून बह रहा था। होठ पर चोट लगी थी और दांत टूटा हुआ था। शरीर के कई अन्य हिस्सों पर चोट के निशान थे। बेटी के गले और पंखे में नीले रंग की चुन्नी का फंदा बंधा हुआ था। 

 

 pooja panipat

चोट के लिए पूछा तो नाराज हो गए व्यवसायी दंपति
व्‍यवसायी योगेश वढेरा ने बताया कि संगीता पूजा की सौतेली मां है। पूजा का पहले रिश्‍ता तय किया था। तब उसके होने वाले पति की मौत हो गई थी। इसके बाद से वह परेशान रहती थी। अब परिजनों ने रिश्‍ता तय कर दिया। इससे वह खुश नहीं थी। 11 मई को उसके पिता अंगद को कहा था कि उसका काम में मन नहीं लग रहा।  इसे घर ले जाओ। अंगर ने कहा कि गांव से लौटकर बेटी को घर ले जाएंगे। रविवार रात को पूजा अपने कमरे में सो गई थी। बेटी ने शाम को दरवाजा खटखटाया तो जवाब नहीं मिला। डुप्‍लीकेट चाबी से दरवाजा खोला तो पूजा मृत पड़ी थी। वहीं अंगद ने बताया कि उन्‍हें ममता और योगेश ने बताया कि सुनीता ने फंदा लगाकर जान दी है। इस पर सुनीता ने पूछा कि बेटी को चोट कैसे लगी तो दोनों उस पर नाराज हो गए। सुनीता ने योगेश, ममता, उनकी दो बेटियों और अन्य परिजनों पर बेटी की हत्या का आरोप लगाया है। 

 

15 जून को थी बेटी की शादी 
मृतका के पिता अंगद ने बताया कि 15 जून को बेटी पूजा की शादी गोंडा के एक युवक के साथ तय थी। इसी तैयारी को लेकर वह गांव गया था। रविवार दोपहर करीब दो बजे कोठी मालिक के फोन से बेटी पूजा ने रोते हुए कहा कि पापा मकान मालिक और मालकिन उसकी बहुत देर से पिटाई कर रहे हैं। इस पर अंगद ने बेटी को समझाया कि तूने ही कोई गलती की होगी। इसके बाद, कोठी मालिक से भी गुहार लगाई कि बेटी की पिटाई न करें। गलती की है तो प्यार से समझा दें। इसके बाद फोन कट गया। थोड़ी देर बाद बेटी ने कॉल कर कहा कि पापा ये लोग मुझे मार देंगे। आप मुझे यहां से ले जाओ। बेटी से 1 मिनट सात सेकंड ही बात हुई और फिर फोन कट गया।   

जहां बजनी थी शहनाई, वहां अब पसरा मातम
अंगद ने बताया कि बेटी की शादी की तैयारी चल रही थी। कपड़े खरीद लिए गए थे। रिश्तेदारों को भी शादी के बारे में बता दिया गया था। सभी लोग खुश थे लेकिन बेटी की मौत से सारी खुशियां मातम में बदल गई।   

रिपोर्ट के आधार पर तय होगी कार्रवाई
मॉडल टाउन थाना प्रभारी हरविंद्र सिंह ने बताया कि शव का डॉक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया जाएगा। इसके बाद ही पता चल पाएगा कि उसकी मौत फंदा लगाने से हुई या फिर अन्य किसी कारण से। रिपोर्ट आने के बाद आगामी कार्रवाई की जाएगी।