कानपुर : देश की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्‍सप्रेस में यात्रियों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. रविवार को वाराणसी से दिल्ली जाते वक्त यात्रियों को कानपुर में बदबूदार और सड़ा चावल परोसा गया. केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति भी इसकी शिकार हुईं. मामला रेल मंत्री तक पहुंच गया तो आईआरसीटीसी के महाप्रबंधक एमपी सिंह को जांच सौंपी गई है. विशेष जांच टीम आज कानपुर सेंट्रल रेलवे स्टेशन पहुंची है और उसने शिकायत सही पाए जाने पर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही का भरोसा दिया है.

वीवीआईपी ट्रेन होने के कारण वंदे भारत के यात्रियों को कानपुर के फाइव स्टार होटल लैंडमार्क में बना खाना सप्लाई किया जाता है. रविवार को वाराणसी से दिल्ली जाते वक्त ट्रेन ने कानपुर ठहराव लिया तो यहीं से खाना सप्लाई किया गया. ट्रेन में केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति भी सफर कर रही थीं. कुछ यात्री इस बदबूदार खाने को लेकर उनके सामने पहुंच गए तो उन्होंने यात्रियों को भरोसा दिया कि मामले को रेलमंत्री के सामने रखा जाएगा.

बदबूदार खाना परोसने के मामले में इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन यानि आईआरसीटीसी ने जांच शुरू कर दी. आईआरसीटीसी के जीएम एमपी सिंह दिल्ली से कानपुर पहुंचे. वंदे भारत ट्रेन में बदबूदार खाना परोसने के मामले पर उन्होंने कहा कि यात्रियों की शिकायत आई है, उसकी जांच चल रही है. कारपोरेशन यात्रियों को जवाब भेजेगा और खाने में खराबी साबित होने पर सप्लायर्स का लाइसेंस निरस्त करने और जुर्माना लगाने की कार्यवाही की जाएगी. जांच रिपोर्ट रेलवे मंत्रालय को भी सौंपी जाएगी.