बठिंडा। एक व्‍यक्ति को शक था कि उसकी पत्‍नी के उसके छोटे भाई के साथ अवैध संबंध हैं। इस कारण उसने पत्‍नी और भाई को सोते समय तेजधार हथियार से काट दिया। उसके करीब छह लोगोें के साथ्‍ मिलकर अपने ही परिवार पर हमला कर दिया। उसने पत्‍नी और भाई के अलावा अपनी मांं, पिता पर भी हमला कर उनको घायल कर दिया। पत्‍नी की मौके पर ही मौत हो गई। भाइ्र की हालत बुहद गंभीर है।

घटना गांव रायके खुर्द  में मंगलवार को देर रात साढ़े 11 बजे हुई। घर की दीवार फंदा दाखिल हुए युवक ने घर के आंगन में सो रहे अपने मां-बाप, भाई व पत्‍नी पर तेजधार हथियारों से हमला किया।  हरदीप सिंह नामक इस युवक ने पत्‍नी राजवीर कौर (19) व छोटे भाई हर्षदीप सिंह (21) को कृपाण व कापे आदि तेजधार हथियारों से बुरी तरह से काटकर लहूलुहान कर दिया।

पत्नी व भाई के चरित्र पर करता था शक, सोते समय पूरे परिवार को तेजधार हथियारों से काटा, पत्नी की मौत

हमलेके दौरान युवक की मां चरणजीत कौर ने छत पर चढ़ कर अपनी जान बचाई। घायल मां ने शोर मचाया तो आरोपित युवक अपने साथियों संग मौके से फरार हो गया। वहीं शोर के बाद घटनास्थल पर एकत्र हुए लोगों ने गांव के सरपंच की मदद से लहूलुहान हुए पूरे परिवार को उपचार के लिए बठिंडा के सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया गया। यहां डाक्टरों ने राजवीर कौर को मृतक घोषित कर दिया गया। युवक के पिता जसकरण सिंह (45) व भाई  हर्षदीप सिंह की गंभीर हालत को देखते हुए शहर के निजी अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।

घायल हर्षदीप सिंह की हालत काफी नाजुक है। उधर, घटना की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची थाना नंदगढ़ पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया और घायल जसकरण सिंह के बयानों पर उसके बड़े बेटे युवक हरदीप सिंह (27) समेत पांच अज्ञात लोगों पर हत्या समेत विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास शुरू कर दिए है। फिलहाल आरोपित युवक फरार है और उसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

------

15 दिन पहले पत्नी व छोटे भाई को मारने की दी थी धमकी

थाना नंदगढ़ के एसएचओ इंस्पेक्टर राजपाल सिंह ने बताया कि पुलिस को दिए बयानों में घायल जसकरण सिंह  बताया कि वह करीब चार साल पहले वह गांव रायके खुर्द में आकर रहने लगे हैं। उसे पहले वह गांव रायके कलां में रहते थे। वहां से अपनी जमीन जायदात बेचकर गांव बंबीहा में करीब तीन एकड़ जमीन पर ली है, जिसपर वह खेती बाड़ी करते है।

जसकरण सिंह के मुताबिक उसके दो बेटे व एक बेटी है। आरोपित युवक हरदीप सिंह उसका सबसे बड़ा बेटा है। वह कोई कामकाज नहीं करता है। उसकी बेटी मानसा में शादीशुदा है और छोटा बेटा हर्षदीप सिंह ही खेतीबाड़ी का काम करता है और पूरे घर का खर्च उठाता है। जसकरण सिंह के मुताबिक करीब एक साल पहले उसके बड़े बेटे हरदीप सिंह ने ज्योति नाम एक लड़की के साथ शादी की थी, लेकिन करीब छह माह एक साथ रहने के बाद उसने उसे तलाक देकर छोड़ दिया था।

करीब तीन माह पहले हरदीप सिंह श्री मुक्तसर साहिब वासी राजवीर कौर के साथ  दूसरी शादी करवाई थी और उनके पास आकर गांव रायके खुर्द रहने लगा था। शादी के कुछ समय बाद आरोपित हरदीप सिंह अपने छोटे भाई हर्षदीप सिंह व पत्‍नी राजवीर कौर के चरित्र पर शक करने लगा। उसे शक था कि उसकी पत्‍नी का उसके छोटे भाई के साथ संबंध है। इसके चलते करीब बीस दिन पहले वह घर पर किसी कुछ बताएं चला गया और वापस नहीं आया। जसरकण सिंह के मुताबिक करीब पंद्रह दिन पहले हरदीप सिंह ने उन्हें फोन कर धमकी दी कि वह अपनी पत्नी व छोटेभाई को मार देगा, लेकिन उन्होंने उसकी धमकियों को गंभीरता से नहीं लिया।

---

दीवार फंदाकर घर में हुआ दाखिल, वारदात को अंजाम देने के उसी रास्ते से हुआ फरार

पुलिस को बयान देकर जसकरण ने बताया कि बीती मंगलवार रात्रि हर रोज की तरह खाना खाने के बाद उसकी पत्नी चरणजीत कौर, बहू राजवीर कौर व छोटा बेटा हर्षदीप सिंह समेत वह घर के आंगन में सो रहे थे। रात करीब साढ़े 11 बजे हरदीप सिंह व उसके साथ आधा दर्जन अज्ञात युवक घर की दीवार फंदाकर अंदर दाखिल हुए और साेते समय उनपर तेजधार हथियारों से हमला कर दिया।

जसकरण सिंह के मुताबिक आरोपित ने पहले अपनी पत्नी पर तेजधार हथियारों से वार कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया, जबकि उसके बाद अपने छोटे भाई को भी हथियारों से काटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। इतना ही नहीं उसने उन्हें भी जान से मार देने की नीयत से घायल कर दिया। इस दौरान चरणजीत कौर ने अपनी जान बचाकर घर की छत पर चढ़ गई और शोर मचाकर आसपास के लोगों को एकत्र करना शुरू कर दिया।