मुंबई। अपनी विभिन्न मांग को लेकर मंगलवार को आधी रात से मुंबई में ऑटो रिक्शा यूनियनों ने प्रस्तावित अनिश्चितकालीन हड़ताल वापस लेने का फैसला किया है. इससे पहले, सोमवार को परिवहन विभाग से हुई बैठक नाकाम रहने बाद हड़ताल की घोषणा की गई थी.सोमवार देर रात ऑटो रिक्शा यूनियनों की तरफ से हड़ताल वापस लेने की बात कही गई. बता दें कि पिछले महीने 9 जून को विभिन्न ऑटो रिक्शा यूनियनों के द्वारा राज्य सरकार को अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का नोटिस सौंपा गया था. मुंबई के 2.12 लाख ऑटो रिक्शा चलाने वाले 4 लाख चालक अनिश्चितकालीन हड़ताल में शामिल होने वाले थे. इससे मुंबईकरों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता था. ऑटो रिक्शा चालकों की तीन मांगें हैं. पहली मांग है ओला-ऊबर सर्विस पर रोक लगाना, दूसरी किराए में बढ़ोतरी और तीसरी मांग है अवैध ऑटो रिक्शा वालों पर कार्रवाई. ऑटो रिक्शा यूनियनों का कहना है कि सभी नियमों का पालन करने के बाद ही ऐप बेस्ड टैक्सी सर्विस देने की मान्यता देनी चाहिए.