लंबी। महिला अपने पति को छोड़कर प्रेमी के साथ रहने लगी। कुछ दिनों बाद महिला ने अपने पति पर गुजारा भत्ता देने का दबाव भी बनाना शुरू कर दिया। महिला ने पति पर केस कर दिया। इससे महिला की 19 वर्षीय बेटी आहत हो गई और नहर में छलांग लगाकर खुदकशी कर ली। उसने सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें उसने मौत के लिए अपनी मां, उसके प्रेमी और नाना-नानी को जिम्मेदार ठहराया है।

युवती के फूफा ने बताया कि उसके साले की शादी गांव दयोनखेड़ा निवासी महिला के साथ हुुुई थी। शादी के बाद साले की दो बेटियां व एक बेटा हुआ। लगभग दो वर्ष पहले साले की पत्नी उसको छोड़कर अपने प्रेमी ट्रक ड्राइवर के साथ बठिंडा में रहने लगी। इसके बाद दउनके तीनों बच्चे उनके पास (फूफा) रहने लगे। सबसे बड़़ी़ बेटी की उम्र 19 वर्ष थी। 


बच्चों के पिता दिव्यांग हैंं और बीमार रहते हैं। अब वह मलोट शहर में रह रहा था। प्रेमी के साथ गई पत्नी ने बाद में पति पर खर्च के लिए केस कर दिया। इस संबंध में शुक्रवार को पेशी थी। इससे पहले ही उनकी बड़ी बेटी स्कूटी पर घर से निकल गई। उसने मैसेज किया कि वह मां की ओर से पिता को दी जा रही परेशानी को नहीं देख सकती, इसलिए आत्महत्या करने जा रही है।

फूफा युवती को ढूंढते रहे, लेकिन उसका मोबाइल बंद था। बाद में पता चला कि उसने राजस्थान नहर में छलांग लगा दी है। लोगों ने उसे नहर से निकाल लिया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया। उसके पास से सुसाइड नोट भी मिला है। इस पर उसने मां, उसके प्रेमी व अपने नाना-नानी को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है।
थाना लंबी के प्रभारी बिक्रमजीत सिंह ने बताया कि युवती के फूफा के बयान पर केस दर्ज कर लिया गया है।