दरभंगा: बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा दरभंगा के जिलाधिकारी और अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ बाढ़ राहत की समीक्षा बैठक कर कई निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पानी कम होने के बाद टूटी सड़कों की मरम्मत में तेजी लाने के साथ ही शहरी सुरक्षा तटबंध की स्थिति के आकलन के लिए विभागीय अभियंताओं को भेजने का निर्देश दिया. 

उन्होंने कहा कि पहली बार ऐसा हुआ है कि एक सप्ताह के अंदर पीड़ितों की सहायता के लिए उनके बैंक खाते में छह-छह हजार रुपये भेज दिए गए. मंत्री ने कहा कि बाढ़ बिहार की अपनी समस्या नहीं है. नेपाल में अधिक बारिश होने से यह समस्या उत्पन्न हुई है. 

उन्होंने तटबंधों की निगरानी करने का निर्देश देते हुए कहा कि तटबंधों की निगरानी का दायित्व अभियंताओं की है. उन्होंने बाढ़ में राहत और बचाव कार्य की भी जानकारी हासिल की. उन्होंने कहा कि क्षतिग्रस्त हुए बांधों की जल्द मरम्मत करवाई जाएगी. आपको बता दें कि बिहार के 12 जिले बाढ़ से प्रभावित हैं.


सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, राज्य के 12 जिलों के 97 प्रखंडों के 921 पंचायतों में बाढ़ का पानी फैला हुआ है, जिससे 55 लाख से ज्यादा की जनसंख्या प्रभावित है. बाढ़ से अब तक 78 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि हजारों घर तबाह हो चुके हैं.