बिलासपुर । टेलीफ्राड के मामले में सिरगिट्टी पुलिस ने  दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। सायबर सेल की मदद से सिरगिट्टी पुलिस ने बिहार,पश्चिम बंगाल व झारखंड से दो आरोपियों को पकड़ा है। पकड़े गये आरोपियों से पुलिस ने ठगी के पैसों से खरीदे गये स्कार्पियों व विभिन्न कंपनियों के मोबाइल जप्त किये है। वही नकदी पांच लाख रूपए भी बरामद किये गये है। इस मामले का खुलासा करते हुए एएसपी ओपी शर्मा ने बताया कि 14 जून से 28 जून के बीच आरोपी मोबाइल नंबर 6289111295 के धारक द्वारा प्रार्थी पंचराम कंवर पिता स्व सीताराम सिरगिट्टी निवासी के मोबाइल नंबर पर काल करके सेलेरी स्लिप मोबाइल में मैसेज के माध्यम से भेजने का झांसा देकर प्रार्थी के खाता नंबर की समस्त जानकारी लेकर प्रार्थी के खाता से 650282 रूपए निकालकर धोखाधड़ी की गई थी। प्रार्थी की रिपोर्ट पर अपराध पंजीबध्द कर आरोपी की पतासाजी की जा रही थी। इस मामले में सिरगिट्टी पुलिस ने सायबर सेल की मदद से काल डिटेल का बारीकी से अवलोकन किया। जिसके आधार पर संदेही मोबाइल धारक सचिन मंडल उर्फ कपिल देव का पता चला।  जिसका लोकेशन बिहार राज्य में मिलने से थाना प्रभारी यू.एन.शांत कुमार साहू के नेतृत्व में टीम बिहार रवाना हुई। लेकिन संदेही का लोकेशन पश्चिम बंगाल मिलने पर टीम वर्धमान जिला की ओर रवाना हो गयी। जहां से आरोपी सचिन मंडल उर्फ देव पिता विनोद मंडल 25 वर्ष ग्राम बगीचा पोस्ट चुअंापानी थाना बौसी जिला बंाका बिहार,पंकज कुमार मंडल पिता मनोज कुमार मंडल 19 वर्ष ग्राम पताईथान पोस्ट मचखिया थाना मुफासिल जिला दुमका झारखंड को गिरफ्तार किया। जहां आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। इस कार्रवाई में सायबर सेल के हेमंत आदित्य,थाना प्रभारी यू.एन.शांत कुमार साहू,विनोद यादव ,सैयद साजिद,वीरेन्द्र साहू की भूमिका रही। 
स्कार्पियो, नकदी जब्त
आरोपी सचिन मंडल  ने बताया कि एक्सिस बैंक में ठगे हुए 489,000 रूपए होना बताया। तथा आरोपी से एक नग वीवो मोबाइल,जप्त किया गया। सचिन मंडल के निशानदेही पर मुख्य आरोपी पंकज कुमार मंडल के कब्जे से स्कार्पियों वाहन जे.एच.15 क्यू 7298,एक नग वीवो मोबाइल,एक नग एप्प्ल मोबाइल,तथा एक कीपेड मोबाइल बरामद किया गया है। 
पुलिस को ग्रामीणों ने घेर लिया था
सिरगिट्टी पुलिस की टीम जब आरोपियों को पकडऩे पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिला गई। तब ग्रामीणों से सवाल जवाब करने एंव अपने क्षेत्र के व्यक्ति को अपने साथ ले जाने का ग्रामीणों द्वारा विरोध करने पर थाना प्रभारी यू.एन.शांत कुमार साहू द्वारा अपनी सूझ-बूझ से टीम के साथ मौके पर ही मामले की गंभीरता से अवगत कराते हुए ग्रामीणों को समझाइश दी। जिसे समझकर ग्रामीणों नेे पुलिस सहयोग किया। तब कही जाकर आरोपियों को पकड़ा गया।  थाना प्रभारी ने बताया कि वह पूरा का पूरा गांव ही इस तरह के मामले के लिए प्रसिध्द है। जहां ठगी के ज्यादातर आरोपियों की भरमार है।