शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बेस्ट भवन में मीडिया से बात करते हुए कहा कि उन्होंने राम मंदिर के लिए विशेष कानून लाने की मांग की है. और इंतजार नहीं करना चाहिए, क्योंकि कोर्ट से इसमें विलंब हो रहा है इसलिए तत्काल विशेष कानून पास होना चाहिए.
    शिवसेना ने फिर उठाया राम मंदिर का मुद्दाउद्धव ठाकरे बोले- जल्द हो मंदिर का निर्माण

राम मंदिर के लिए कोर्ट का फैसला हक में भी आता है तो शिवसेना इसके निर्माण के श्रेय पर अपना दावा छोड़ती नजर नहीं आ रही. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने राम मंदिर को लेकर जो बयान दिया है उससे शिवसेना की ऐसी ही मंशा नजर आती है.

उद्धव ठाकरे ने सोमवार को कहा कि राम मंदिर का निर्माण तत्काल किया जाना चाहिए और इस सारी प्रक्रिया में कोर्ट से विलंब हो रहा है तो विशेष कानून भी पास किया जा सकता है.

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से ऐन पहले शिवसेना की ओर से राम मंदिर का मुद्दा उठाने के गहरे मायने निकाले जा रहे हैं. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बेस्ट (BEST) भवन  में मीडिया से बात करते हुए कहा, 'हमने राम मंदिर के लिए विशेष कानून लाने की मांग की है. हमें और इंतजार नहीं करना चाहिए, क्योंकि कोर्ट से इसमें विलंब हो रहा है इसलिए तत्काल विशेष कानून पास होना चाहिए.'

उद्धव ठाकरे ने कहा, 'हमें बहुत गर्व है कि हमने सबसे पहले राम मंदिर के लिए पहली ईंट लाने की बात की थी. जब से बाबरी मस्जिद घटना हुई, हमने कहा था कि वहां राम मंदिर बनना चाहिए. पूरे देश में सबसे पहले बालासाहेब ठाकरे ने ज़िम्मेदारी ली थी.'    

शिवसेना प्रमुख ने पाकिस्तान में हिंदुओं को होने वाली दिक्कतों का जिक्र भी किया. उद्धव ठाकरे ने कहा, 'मैंने पहले भी कई बार मुस्लिम भाई और बहनों से कहा है कि पाकिस्तान में किस तरह हिंदुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ता है. हम नहीं चाहते कि भारत में भी मुस्लिम समुदाय के लिए वैसे हालात बनें. हमने कभी ऐसी कोशिश भी नहीं की, क्योंकि हम ऐसी कोई बात नहीं चाहते, कभी नहीं. पाकिस्तान में जो घटनाएं हो रही हैं, उनकी सिर्फ जुबानी बयानबाजी से निंदा नहीं की जा सकती. इस पर पाकिस्तान के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए. हम भारत में रह रहे हैं और देश के हक में जो भी फैसले हैं, उन पर हमें एकजुट होना चाहिए.'
उद्धव ठाकरे के मुताबिक शिवसेना चाहती है कि देश राम मंदिर पर जितनी जल्दी हो सके फैसला ले. साथ ही सरकार भी राम मंदिर के लिए शीघ्र कुछ करे.