मुंबई
मुंबई में गैंगरेप को लेकर जहां पूरे देश में आक्रोश फैला हुआ है, वहीं हमारे नेता अपने बयानों से लोगों के जख्मों पर नमक छिड़कने से पीछे नहीं रहते हैं. कोई लड़कियों को कपड़ों पर ध्यान देने की नसीहत देता है तो कोई कहता है कि कम कपड़े और मेक-अप देखकर ऐसी घटनाएं हो ही जाती हैं.

मुंबई के सपा नेता अबु आजमी साहब ने तो हद ही कर दी. अबु आजमी ने कहा कि महिलाओं की आसानी से उपलब्धता बंद हो जानी चाहिए. महिलाओं को पुरुषों की तरह देर रात नहीं घूमना चाहिए. महिलाएं कमजोर होती हैं, तो उन्हें बाहर जाने से पहले सोचना चाहिए कि वे कहां जा रही हैं.

अबु आजमी के मुताबिक, 'भारत में कई लोग गांव में रहते हैं, जहां विषमता है. गांव से बड़े शहरों में आए लोगों के लिए उपलब्धता नहीं होती है. इसलिए जब वो महिलाओं को कम कपड़ों में और मेक-अप में देखते हैं, तो इस तरह की घटनाएं हो जाती हैं...'

अबु आजमी ने कहा, 'महिलाओं को बाहर जाने की आजादी है लेकिन बस परिवार के साथ. मैं अपने बेटे को रात में बाहर भेज सकता हूं लेकिन अपनी बेटी को नहीं. मैं पहले भी कह चुका हूं कि महिलाएं सोने की तरह कीमती हैं. आजकल कहीं भी महिलाओं के ऊपर हमला हो जा रहा है इसलिए हमें इससे बचने के उपाय करने चाहिए.'

नरेश अग्रवाल ने दी कपड़ों पर ध्यान देने की नसीहत
मुलायम सिंह यादव के करीबी समझे जाने वाले नरेश अग्रवाल ने कहा, 'हमें सामाजिक सोच को बदलना पड़ेगा. टीवी की अश्लीलता, रहन-सहन और कपड़े पहनने के तौर-तरीकों पर भी ध्यान देना होगा. अशिक्षा भी एक कारण है. इन सब बिंदुओं पर काम किए बिना ये अपराध नहीं रुकेंगे. मुझे नहीं लगता कि सिर्फ कानून से समस्या सुलझ जाएगी.'

 

न्यूज़ सोर्स : agency