राजस्थान के कोटा शहर में एक 13 साल की नाबालिग लड़की को सवा लाख में खरीदने वाले आरोपी धर्मपाल ने उसके साथ कई बार रेप भी किया था. रविवार को पुलिस ने इस मामले में 6 और लोगों को गिरफ्तार करते हुए कई और चौंकाने वाले खुलासे किए हैं.

उल्लेखनीय है कि पीड़त लड़की 5 जुलाई को कोटा में लावारिस अवस्था में मिली थी. पुलिस ने उसे शेल्टर होम में भेज दिया था जहां काउंसलिंग के दौरान उसे बेचे जाने की बात सामने आई थी. इसके बाद पुलिस ने रविवार को ताबड़तोड़ छापेमारी करते हुए 6 लोगों को रफ्तार किया. इससे पहले इस मामले में दो लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी थी.

 

तीन आरोपियों को पुलिस रिमांड पर भेजा:

कोटा में उद्दोगनगर थानापुलिस द्वारा किशोरी की खरीद फरोख्त के मामले में गिरफ्तार सभी 7 आरोपियों को रविवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. अवकाश का दिन होने के चलते पुलिस ने न्याय विहार स्थित एडीजे-4, संदीप शर्मा के आवास पर सभी आरोपियों को पेश किया था, जहां से एडीजे ने दो को तीन दिन की पीसी रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया. जबकि शेष पांच आरोपियों को जेल भेजने के आदेश दिए.

महिला उर्फ प्रेमी पुलिस रिमांड पर:

बदमाशों के इस गिरोह में एक महिला मंजु मीणा उर्फ प्रेमी भी शामिल हैं. पुलिस ने आगामी पूछताछ और जांच में और तथ्यों को हासिल करने के लिए कोर्ट से ऑर्डर लेकर पीसी रिमांड पर लिया हैं. पुलिस के अनुसार इस गिरोह के तार मध्यप्रदेश औऱ राजस्थान के किसी मानव तस्करी गिरोह से जुड़े हो सकते हैं. इन तथ्यों की भी कोटा पुलिस पड़ताल कर रही हैं.

प्रतापगढ़ से अपहरण किया और कोटा में बेचा:

आरोपित महिला मंजु मीणा 13 साल की पिड़िता किशोरी को प्रतापगढ़ से कोटा लाई थी. यहां 1.25 लाख में सौदे की बात छेड़ने के बाद आपसी सहमति से तय हुई रकम 1 लाख 17 हजार 500 रुपये में 20 साल के आरोपी धर्मराज को बेच दिया.

सवा लाख में खरीद कर आरोपी ने कई बार किया रेप:

नाबालिग लड़की को सवा लाख रुपए देकर खरीदने वाले आरोपी ने उसके साथ कई बार रेप किया. पुलिस के अनुसार आरोपी धर्मराज ने पीड़िता को कई बार अपनी हवस का शिकार बनाया था. पिड़िता किशोरी फिलहाल करणीनगर विकास समिति के आश्रयगृह में हैं.