राजस्थान की कोचिंग सिटी कोटा में बिहार के एक और कोचिंग छात्र ने सुसाइड कर लिया है.

शहर में अकाल मौतों का सिलसिला बदस्तूर जारी हैं और बीते दिनों कुन्हाङी इलाके में हॉस्टल के कमरे में तौलिए का फंदा बनाकर झूलने वाले बिहार निवासी निखिल के सुसाइड के एक पखवाड़े बाद ही शुक्रवार को बिहार के एक और कोचिंग छात्र प्रिंस ने आत्महत्या कर ली है. कोचिंग संस्थान कॅरियर पॉइन्ट से आईआईटी की तैयारी कर रहे प्रिन्स की मौत के बाद फिर सवाल खड़े हो गए हैं कि कोटा में युवाओं के अकालमौतों का ये सिलसिला आखिर कब थमेगा.

किराए के कमरे में लटका मिला शव:

प्रिंस का शव कल देर रात को विज्ञाननगर थाना पुलिस ने किराए के कमरे से बरामद किया था. वह फंदे से झूलता मिला था और जब तक उतारा गया प्रिन्स की मौत हो चुकी थी. फिलहाल मृतक कोचिंग छात्र के शव को पुलिस ने एमबीएस अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया हैं औऱ परिजनों के कोटा पहुंचने के बाद शव का पंचनामा होगा.

मुख्यमंत्री भी दे चुकी है हिदायत, फेक्ट्री मत बनाओ:

राजस्थान की मुख्यमंत्री इसी महीने के पहले हफ्ते में कोटा आयी तो कोचिंगसिटी के बेलगाम कोचिंग संस्थानों को तो सख्त हिदायत दी थी. साथ ही कोचिंगसिटी को सुसाईड सिटी में तब्दील होते देख रहे प्रशासन को भी ,एक्शन, में आने के संकेत कर दिए थे. लेकिन सीएम को कोटा दौरे को अभी एक माह भी पूरा नही बिता हैं कि इस दरम्यिान ही कोटा में 2 और कोचिंग छात्र अकालमौत का शिकार हो चुके हैं. इनमें से एक कोचिंग छात्र कोचिंग इंस्टीट्यूट 'एलन' का हैं जबकि शुक्रवार रात को सुसाइड करने वाला बिहार निवासी छात्र प्रिन्स कोचिंग संस्थान 'कॅरियर पॉइन्ट' से आईआईटी की तैयारी कर रहा था.