भीलवाड़ा में पांच जिलों के गुर्जर समाज के लोगों की आरक्षण की मांग को लेकर आयोजित बैठक के बाद तीन युवक आरके आरसी माहेश्वरी भवन के पीछे टावर पर चढ़ गए.

इसे लेकर पुलिस व प्रशासन में खलबली मच गई. अधिकारी मौके पर पहुंच गए और समझाइश के प्रयास किए जा रहे हैं. जहाजपुर विधायक धीरज गुर्जर ने कहा कि हम आरक्षण की मांग को लेकर मंगलवार को पांच जिलों के गुर्जर समाज के लोगों की बैठक हुई. बैठक के बाद गुर्जर समाज के तीन युवक पप्पू, प्रकाश व प्रभु नामक आरके आरसी माहेश्वरी भवन के पीछे स्थित बीएसएनएल टावर पर चढ़ गए.

उन्होंने बताया कि ये युवक अपनी छात्रवृति की मांग को लेकर इस टॉवर पर चढ़े हैं. इन्‍हें जब पता लगा कि उन्‍हें ओबीसी से बाहर कर दिया तो इनमें आक्रोश फैल गया और उन्‍होंने ऐसा कदम उठाया है. जब तक इनकी छात्रवृति के बारें में कोई समाधान प्रशासनिक अधिकारी उचित जवाब नहीं दे देते, ये युवक नीचे नहीं उतरेंगे. हम भी उनसे समझाइश का प्रयास कर रहे हैं..

वहीं आरक्षण की मांग को लेकर मंगलवार को भीलवाड़ा सहित पांच जिलों के गुर्जर समाज के लोगों की बैठक में आन्दोलन को तेजी देने के लिए महापंचायत का आयोजित की गई, जिसमें आन्‍दोलन को गति देने के साथ ही धरने-प्रदर्शन का निर्णय लिया गया.

महापंचायत गुर्जर समाज की ओर से आयोजित की गई, जिसमें जहाजपुर विधायक धीरज गुर्जर के साथ ही मेवाड़ के बड़े नेता भंवर गुर्जर, रामलाल गुर्जर, कमल गुर्जर, गणेश गुर्जर आदी शामिल हुए.

विधायक और गुर्जर नेता धीरज गुर्जर ने कहा कि महापंचायत में भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, उदयपुर और प्रतापगढ़ जिलों के प्रमुख नेताओं सहित समाजजन शामिल हुए. अब तक गुर्जर आरक्षण की हुंकार करौली, धोलपुर व भरतपुर से भरी जाती है, लेकिन इस बार हमने मेवाड़ से इसकी शुरूआत की है.

इस महापंचायत में हमने सभी से चर्चा की है, जिसमें हमने संघर्ष बनाकर इस आन्‍दोलन को गति देने का निर्णय लिया है. हम इस आन्‍दोलन को गैर राजनीतिक तरीके से आगे बढ़ाएंगे. गुर्जर ने चेतावनी देते हुए कहा कि आरक्षण की यह लड़ाई आखरी होगी.