ऐसा कई दफा, कई लोगों के साथ होता है कि वो न चाहते हुए भी लिमिट से ज्यादा पैसे खर्च कर देते हैं. किसी ट्रिप पर या किसी फंक्शन की तैयारियों के दौरान ऐसा अक्सर होता है. उस वक्त भले ही हम दिल की बात मानकर और दुनियादारी का ख्याल रखते हुए औकात से बढ़कर खर्च कर देते हैं. लेकिन जब बजट का ऐहसास होता है, तब चेहरे की सारी हंसी गायब हो जाती है.

लेकिन हमारा मानना है कि खास मौकों और लोगों पर दिल खोलकर खर्च करने में कोई बुराई नहीं है. हर बार भविष्य के बारे में सोचकर मन मारने की ज़रूरत नहीं. आपको जितना खर्च करना है, करिये. बस उसके बाद कोई पछतावा न हो, इसके लिए ये काम करना न भूलें...

बहिखाता तैयार करें
माना कि हिसाब-किताब का ये तरीका पुराने ज़माने का चलन है, लेकिन है कारगर. आप एक नोटबुक लीजिये और उसमें तारीख के हिसाब से हर छोटे-बड़े खर्च को लिखें. रेफ्रेंस के लिए क्रेडिट कार्ड का स्टेटस, डेबिट कार्ड की स्टेटमेंट वगैरह भी क्रॉस चेक कर लें. अंत में इन सभी खर्चों को जोड़कर अपने बजट से घटा लें. फिर जो राशि आई, आपको करनी होगी उसकी भरपाई.

अब करें ये दो काम-
आपने जितनी भी एक्ट्रा राशि खर्च की है, उसकी भरपाई करने के लिए आपको दो काम करने होंगे. पहला, कुछ दिनों के लिए खर्च पर लगाम लगानी होगी. दूसरा, कमाई के और भी तरीके ढूंढ़ने होंगे. अगर खर्च की गई राशि को आप अपने अगले बजट में मैनेज कर सकते हैं, तो बढ़िया है. लेकिन अगर यह राशि बड़ी है तो आपको दूसरा काम, यानी एक्ट्रा इंकम का भी बंदोबस्त करना होगा. 

खर्चों पर लगाम: कुछ खर्च ऐसे होते हैं जिनमें कटौती संभव नहीं जैसे-किराया, राशन, बच्चों की फीस वगैरह. लेकिन कुछ खर्चों को आप कम ज़रूर कर सकते हैं, जैसे- रेस्त्रां जाकर खाना खाने की जगह दोस्तों के साथ घर पर ही खास लंच करें. हम आपको शॉपिंग, ट्रैवलिंग के खर्चों को बंद करने की सलाह नहीं दे रहे, बल्कि उन्हें कम करने का सुझाव दे रहे हैं. इसके लिए आपको अपनी क्रियेटिविटी और ज़रूरत के हिसाब से तरीके निकलने होंगे.

'एक्स्ट्रा' इनकम का बंदोबस्त: हो सकता है कि घर-दफ्तर की मसरूफियत ने आपको ये सोचने का मौका ही नहीं दिया कि इनके अलावा भी आप कुछ वक्त निकालकर एक्स्ट्रा कमाई कर सकते हैं. किसी को ट्यूशन देकर, कुछ आर्टिकल लिखकर, किसी एनजीओ का कोई शॉर्ट-टर्म प्रोजेक्ट करके आप थोड़े पैसे और कमा सकते हैं. इसलिए अपनी क्षमता के अनुसार, परिवार और दोस्तों की सलाह लेकर कोई पार्ट-टाइम जॉब भी कर सकते हैं.

टिप: याद रहे, आपको ये दोनों काम ताउम्र नहीं, केवल कुछ दिनों तक ही करने होंगे, जिससे आपके एक्ट्रा खर्च की भरपाई हो सके. लेकिन जितना मुमकिन हो सके कोशिश करें कि आप आगे भी ये दो काम करते रहें ताकि आप मिसलेनियस खर्चों का बजट बढ़ा सकें और दिल खोलकर खर्च कर सकें!