सोमवार की सुबह राजस्थान के कोटा के महावीरनगर में 17 वर्षिय एक लड़के ने हॉस्टल में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। मृतक का नाम अभिषेक बताया जा रहा है। अभिषेक बिहार के मधुबनी जिले का रहने वाला था।दो साल पहले अभिषेक बिहार से कोटा मेडिकल एंट्रेंस परीक्षा की तैयारी के लिए आया था। हालांकि पुलिस का कहना है कि अभिषेक किसी भी कोचिंग सेंटर में पढ़ाई नहीं करता था। पुलिस ने बताया कि अभिषेक ने एक कोचिंग सेंटर में एडमिशन तो लिया था, लेकिन वहां कभी क्लास नहीं की। 

सोमवार की सुबह जब हॉस्टल के वार्डन ने अभिषेक के कमरे का दरवाजा खटखटाया तो किसी ने दरवाजा नहीं खोला। जिसके बाद वार्डन ने कमरे की खिड़की से देखा तो अभिषेक को फांसी से लटकता पाया। 

इसके बाद वार्डन ने जवाहर नगर पुलिस स्टेशन को घटना की सुचना दी। जिसके बाद पुलिस ने अभिषेक को अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने अभिषेक को मृतक घोषित कर दिया। 

इस मामले में पुलिस का कहना है कि, हमें इस घटना स्थल से कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला। हम अभी मृतक के दोस्तों से बात कर रहे हैं। हमने मृतक के परिजनों को भी घटना की सुचना दे दी है। लेकिन मृतक के परिजनों का कहना है कि उन्हें इस मामले में कोई जानकारी नहीं थी कि उनका बेटा कोचिंग क्लास नहीं जाता है। 

पुलिस ने कोचिंग संस्थान से भी बात की। उन्होंने बताया कि मृतक कभी क्लास में नहीं आया। पुलिस हॉस्टल के मालिक और आस पास के कमरों में रहने वाले बच्चों से भी बात कर रही है।