इलाहाबाद के फूलपुर में सोमवार को एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने प्रदेश के तीनों प्रमुख विरोधी दलों, सपा,बसपा और कांग्रेस पर निशाना साधा.पीएम मोदी ने कहा कि एक तरफ ये दल अपनी इज्जत बचाने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं, तो दूसरी तरफ बीजेपी प्रदेश के विकास के लिए चुनाव में है.

पीएम मोदी ने कहा कि पूरे यूपी में परिवर्तन की आंधी चल रही है. यूपी के लोग सपा के कुशासन से तंग आ चुके हैं.

पीएम ने सपा सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यूपी अपराध, अत्याचार, भाई-भतीजावाद और शोषण में एक नंबर पर है. शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, रोजगार के नाम पर यूपी सबसे आखिरी कतार में खड़ा है. सपा-कांग्रेस गठबंधन पर प्रधानमंत्री ने कहा कि एक 'यूपी बेहाल करने वाले' और एक 'यूपी बेहाल वाले' का गठबंधन हुआ है.

यूपी में  भाजपा के लिए पांच वर्ष का मौका मांगते हुए पीएम ने कहा हर पैमाने पर स्थितियां बदल जाएंगी. पीएम मोदी ने कहा कि 70 सालों में गरीब मांओं के लिए शौचालय की व्यवस्था नहीं की गई. 'स्वच्छ भारत मिशन' के तहत यह बीड़ा उठाया गया और 4 करोड़ से ज्यादा शौचालय बनवाए गए.

पीएम मोदी के 4 मंत्र

मोदी ने वादा किया कि किसानों को सिंचाई, बालकों को पढ़ाई, युवकों को कमाई और बुजुर्गों को दवाई देने का काम बीजेपी करेगी. महंगी दवाईयों की वजह से गरीब इलाज नहीं करवा पा रहे थे, लेकिन मोदी सरकार ने 700 दवाइयों का दाम कम करा दिया. स्टेंट का दाम 85 फीसदी कम होने से अब गरीब आराम से अपना इलाज करवा सकते हैं.

यूपी में सात चरणों में वोटिंग

उत्तर प्रदेश में 11 फरवरी से 8 मार्च के बीच सात चरणों में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. केंद्र में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने के बाद जिस तरह से बीजेपी को दिल्ली और बिहार में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है, वैसे में उत्तर प्रदेश का चुनाव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है.

मुख्यमंत्री चेहरे को सामने न लाकर एक बार फिर बीजेपी ने पीएम मोदी के चेहरे पर दांव खेला है. इसका कितना फायदा उसे इन चुनावों में मिलेगा वह 11 मार्च को सामने आ ही जाएगा.