गाजियाबाद पुलिस ने सोमवार को छापेमारी कर होटलों में चल रहे जिस्मफरोशी के रैकेट का भंडाफोड़ किया. पुलिस ने छापेमारी के दौरान करीब 50 युवक-युवतियों को हिरासत में लिया. हिरासत में लिए गए लोगों में देवर-भाभी और चाची-भतीजे तक शामिल हैं. पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है.

पुलिस के मुताबिक, गाजियाबाद के कोतवाली घंटाघर इलाके में उन्हें पिछले काफी समय से देह व्यापार की खबरें मिल रहीं थीं. पुलिस सही मौके की तलाश में थी. नतीजतन सोमवार को पुख्ता जानकारी मिलने के बाद गाजियाबाद एसएसपी ने खुद इस रेड को प्लान किया. एसएसपी ने लोकल थाना पुलिस को भी इस रेड के बारे में सूचना नहीं दी.

रेड के दौरान होटलों के कमरों में दर्जनों लोग आपत्तिजनक हालत में मिले. पुलिस ने फौरन सभी को हिरासत में ले लिया. पूछताछ में खुलासा हुआ कि हिरासत में लिए गए लोगों में देवर-भाभी और चाची-भतीजे तक शामिल हैं. फिलहाल पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है.

इस कार्रवाई से जान पड़ता है कि गाजियाबाद एसएसपी को अपनी पुलिस पर ही भरोसा ही नहीं है, क्योंकि एसएसपी ने लोकल थाना पुलिस को भरोसे में लिए बगैर ही इस कार्रवाई को अंजाम दिया. वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि इससे पहले भी पुलिस कई बार होटलों पर रेड कर चुकी है, लेकिन हर बार होटल मालिकों पर कोई कार्रवाई नहीं की जाती है. फिलहाल इस बार एसएसपी दोषी होटल मालिकों पर कार्रवाई की बात जरूर कहते नजर आ रहे हैं.