अपने धार्मिक महत्व के कारण प्रसिद्ध ऋषिकेश आजकल अडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए भी फेमस हो रहा है। सुहावना मौसम, गंगा मां का पवित्र जल, राफ्टिंग, कैंपिंग, बंजी जंपिंग और ढेर सारी मस्ती, ये है उत्तराखंड के शहर ऋषिकेश की खासियत। अगर आप ऋषिकेश जाने का प्लैन कर रहे हैं, तो कम से कम 3 दिन का समय लेकर जाएं।


कैंपिंग में सुकून भी, मजा भी
अगर आप अपने शहर के शोर-शराबे और काम की टेंशन से तंग आ चुके हैं तो ऋषिकेश में कैंपिंग का आनंद ले सकते हैं। इन कैंप्स में आपको ब्रेकफास्ट से लेकर डिनर तक की सभी सुविधाएं दी जाती हैं। इनबाउंड अडवेंचर टूर कैंपिंग के मालिक कुशाल रावत बताते हैं, ‘कस्टमर्स यहां आराम करने, नेचर के साथ वक्त गुजारने और इंजॉय करने आते हैं। यही कारण है कि हम अपने गेस्ट को अडवेंचर स्पोर्ट्स के साथ ही फुटबॉल, क्रिकेट जैसे खेल की सुविधा भी देते हैं।’ अगर आप कैंपिंग के लिए ऋषिकेश का जाने का प्लैन बना रहे हैं, तो पहले से बुकिंग जरूर करवा लें।

समय के हिसाब से राफ्टिंग
ऋषिकेश की राफ्टिंग यूं ही फेमस नहीं है। दरअसल यहां राफ्टिंग कई तरह से और कई उम्र वर्ग के लोगों को करवाई जाती है। यहां आपको 24 किलोमीटर, 16 किलोमीटर और 9 किलोमीटर की राफ्टिंग करने का ऑप्शन मिलता है। 24 और 16 किलोमीटर वाली राफ्टिंग में दो से ढाई घंटे लग जाते हैं। ऐसे में अगर आपके पास समय की कमी है, तो आप अपने हिसाब से कम दूरी वाली राफ्टिंग को भी चुन सकते हैं। बारिश का सीजन होने की वजह से जुलाई और अगस्त महीने में यहां राफ्टिंग बंद रहती है।

बंजी जंपिंग का क्रेज
ऋषिकेश में आपको हवा में सेफली उड़ने का चांस मिलेगा बंजी जंपी के जरिए। यहां के स्थानीय निवासियों की मानें, तो यहां देश की सबसे ऊंची बंजी जंपिंग करवाई जाती है। इसमें पैरों को रबड़ की रस्सी से बांध कर नीचे कूदा जाता है। रस्सी नीचे जाने पर खिंचती है और फिर सिकुड़ती है जिससे नीचे गया व्यक्ति एक बार फिर ऊपर की ओर आता है। हालांकि अगर आपका वजन 35 किलो से कम है या फिर 120 किलो से ज्यादा है, तो यह आपकी बंजी जंपिंग के आड़े आ सकता है।

ये भी कुछ कम नहीं
अगर आप धार्मिक स्थान घूमना चाहते हैं, तो भी ऋषिकेश आपको निराश नहीं करेगा। यहां लक्ष्मण झूला, नीलकंठ मंदिर, भरत मंदिर, त्रिवेणी घाट जैसी तमाम धार्मिक जगहें हैं जहां आप घूम सकते हैं। इसके अलावा ट्रेकिंग, राजाजी नैशनल पार्क और योग का भी मजा ले सकते हैं।