यूपी के इलाहाबाद के घूरपुर थाना क्षेत्र के पालपुर यमुना घाट के पास आंधी के दौरान सवारियों से भरी नाव पलट गई। जिससे कई यात्री डूब गए और कुछ तैरकर भाग निकले।

घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। मौके पर सीओ करछना समेत कई पुलिस अधिकारी पहुंचे। जल पुलिस व गोताखोरों की मदद से दो मासूम बच्चों समेत तीन लोगों के शवों को बाहर निकाला गया। एक दर्जन अन्य की तलाश में पुलिस ने यमुना में जाल डलवाया, उनकी तलाश जारी है।

धूमनगंज स्थित तारापुर यमुना घाट से शाम को एक नाव सवारियां लेकर घूरपुर के पालपुर यमुना घाट के लिए चली। करीब पांच बजे अचानक आंधी चलने लगी और अंसुतलित होकर नाव पालपुर यमुना घाट पहुंचने से पहले ही पलट गई। हर तरफ चीख पुकार मच गई। कुछ यात्री तैरकर बाहर निकल गए। इस बात की जानकारी होने पर कई गांव के लोग घाट पर पहुंचे। 

सीओ करछना अलका भटनागर समेत यमुनापार के कई थानों की पुलिस, जल पुलिस भी पहुंची। गोताखोरों की मदद से कौंधियारा के बरेही अकोढ़ा गांव निवासी कृष्ण कुमार का तीन वर्षीय बेटा सरस कुमार, छह वर्षीय बेटी पायल उर्फ पूजा व पालपुर गांव के 65 वर्षीय मेवालाल का शव बाहर निकाला जा सका। अन्य की तलाश में जल पुलिस व गोताखोर लगे हुए हैं।