बिलासपुर। लोक सुराज अभियान अंतर्गत नगरीय  निकायों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित होने वाले समाधान शिविरों को अधिकारी गंभीरता से लें तथा शिविरों  में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहें। कलेक्टर श्री अन्बलगन पी. ने आज टी.एल. की बैठक में उक्ताशय का निर्देश दिया।

       कलेक्टर ने आज ग्राम परसदा वेद में आयोजित समाधान शिविर में अनुपस्थित रहने वाले समाज कल्याणशिक्षामहिला एवं बाल विकास अधिकारी को कड़ी फटकार लगाई। नगर पंचायत बोदरी के सीएमओं और अत्यांव्यवसायी विभाग के सीईओं को लोक सुराज के आवेदनों के निपटारें में प्रगति नहीं लाने पर कड़ी फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि समाधान शिविरों में मुख्यमंत्री का अचानक आगमन हो सकता है।

जिसको देखते हुए अपने-अपने विभाग से संबंधित संपूर्ण जानकारी के साथ अधिकारी शिविरों में उपस्थित रहें। उनके विभागों में जो भी आवेदन आते हैउनके निराकरण के बारे में अधिकारी स्वंय आवेदक को बतायें। प्रधानमंत्री आवास योजनासौर सुजला योजनाप्रधानमंत्री उज्जवला योजनामुख्यमंत्री आबादी पट्टास्वच्छ भारत मिशन योजनातेंदू पत्ता बोनस वितरण जैसे महत्वपूर्ण योजनाओं की समीक्षा मुख्यमंत्री द्वारा जिले के आगमन के दौरान की जायेगी। इन योजनाओं की प्रगति को अद्यतन  रखा जाए। लोक सुराज अभियान के दौरान प्राप्त आवेदनों में से 2 लाख 14 हजार 826 आवेदन निराकृत हो गये है।

]शेष 94 हजार  के निराकरण में गति लाने का निर्देश दिया। राशनकार्ड से संबंधित 27 हजार आवेदन लंबित है। पात्र आवेदकों को जरूरी दस्तावेज समय पर जमा करने हेतु कहा जाए। जिससे उनका आवेदन निराकृत हो सकेगा। गरीबांे को गुलाबी राशनकार्ड जारी करते समय अच्छी तरह जॉंच करंे। इसमें जो भी गड़बड़ी होगी उसके लिए खाद्य विभाग के अधिकारी जिम्मेदार होंगें। जिन लोगों के नाम गरीबी रेखा की सूची में नहीं हैउनके द्वारा नाम जोड़ने हेतु आवेदन दिया गया है। इसके संबंध  में शासन को जानकारी भेजने का निर्देश दिया।

सभी राजस्व न्यायालय बनेंगे ई- कोर्ट

    जिले के सभी राजस्व अधिकारियों के न्यायालय को ई-कोर्ट बनाया जायेगा। कलेक्टर ने बताया कि जिले में शत् प्रतिशत राजस्व न्यायालय ई कोर्ट मॉडयूल से चलेगा। इसके लिए सभी न्यायालयों को आईडी पासवर्ड जारी कर दिया गया है। 

    जिले में 01 लाख 80 हजार संगठित एवं असंगठित क्षेत्रों के पंजीकृत श्रमिक है।  जिनका आधार सीडिग किया जाना है। वर्तमान में 27 प्रतिशत श्रमिकों का आधार सीडिग हुआ है इस कार्य में गति लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने भू अर्जन के लंबित प्रकरणों पर जल्द कार्यवाही करने का भी निर्देश दिया। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री जे.पी. मौर्य,अतिरिक्त कलेक्टर श्री.के.डी.कुजांमसंयुक्त कलेक्टर श्री आलोक पाण्डेयराजेन्द्र गुप्ता सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा विडियो क्रॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से सभी विकासखण्डों के अधिकारी उपस्थित थे।