मुफ्त वाई-फाई के वायदे पर भारत में चुनाव जीते गए हैं। भले ही इस वायदे को पूरा न करने के लिए आप उस पार्टी और नेता को गरिया रहे हों लेकिन इस वायदे का पूरा न होना ही आपके हित में है। वैसे तो मुफ्तखोरी किसी भी चीज की ठीक नहीं है, लेकिन मुफ्त वाई-फाई आपके लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है।

वायरलेस नेटवर्क से होकर गुजरने वाले आपके सभी डेटा को हैकर्स और अन्य आपराधिक तत्व हासिल कर सकते हैं। डेटा में कुछ पैसे की बचत आपको बहुत महंगी पड़ सकती है। आपकी गोपनीय सूचना हैकर्स तक पहुंच सकती है, जिसका बहुत बुरा नतीजा आपको भुगतना पड़ेगा।

सिक्यॉरिटी एक्सपर्ट का कहना है कि पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल करना असुरक्षित सेक्स करने जैसा है। हार्वर्ड बिजनस रिव्यू में छपे एक लेख में उल्लेख किया गया है, 'दोनों मामले में अगर सावधानी नहीं बरती जाए तो बड़ा नुकसान होता है। मुफ्त वाई-फाई की स्थिति में आपका पर्सनल डेटा जैसे पासवर्ड, वित्तीय जानकारी या निजी तस्वीरें और विडियो चोरी हो सकती है। जब कभी भी आप किसी कॉफी शॉप, होटल या एयरपोर्ट के लॉन्ज में मुफ्त वाई-फाई का इस्तेमाल करते हैं, अपने पर्सनल डेटा को खतरे में डाल रहे होते हैं।'