अगले साल तक ऐसी बैटरी के साथ स्मार्टफोन आएगा, जो हद से हद 5 मिनट में फुल चार्ज हो जाएगा। यह टेक्नॉलजी सबसे पहले साल 2015 में शोकेस की गई थी। इसलायली स्टार्टअप स्टोरडॉट ने अपनी फ्लैशबैटरी को लास वेगस के सीईएस में दिखाया था।

स्टोरडॉट सीईओ डोरोन मिसर्डफ ने बताया, 'इसका प्रॉडक्शन साल 2018 में कभी भी शुरू हो जाएगा।' हालांकि, सीसीएस इनसाइट के टेक्नॉलजी इनसाइट बेन वुड को इस तरह की तकनीक पर संदेह है। हालांकि, टेस्ला का दावा है कि उसकी सुपरचार्जर टेक्नॉलजी 75 मिनट लेती है किसी भी बैटरी को फुल चार्ज करने में। यह सुपरचार्जर टेस्ला की कारों में आपको मिल जाएगा।

इससे पहले भी हुए दावे...
आपको बता दें कि साल 2014 में प्रोन्तो नाम की कंपनी भी 5 मिनट में फोन चार्ज करने की बात कह चुकी है। कंपनी का दावा था कि प्रोन्तो से आईफोन 5 केवल 5 मिनट में फुल चार्ज हो जाता है। प्रोन्तो कोई चार्जर नहीं बल्कि एक बैटरी पैक (पावर पैक) है, यानी आप बिना इलेक्ट्रिक सॉकिट की चिंता किए आने-जाने के दौरान केवल 5 मिनट में अपना फोन चार्ज कर सकते हैं।

खुद होगा चार्ज
वहीं, अप्रैल 2017 में खबरें आई थीं कि वैज्ञानिक अब एक ऐसी बैटरी बनाने पर काम कर रहे हैं, जिसे बार-बार चार्ज करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह बैटरी प्रकाश से ऊर्जा लेकर आपका फोन रिचार्ज करेगी। यानी, सोलर एनर्जी के जरिए बैटरी खुद-ब-खुद चार्ज हो जाएगी।