बिलासपुर/सेतगंगा। मुंगेली जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर दूर ग्राम दाबो में शनिवार की शाम 4.30 बजे शॉर्टसर्किट से पैरावट में आग लग गई। अंधड़ के चलते यह आसपास के मकानों में फैलने लगी और करीब 40 मकानों को अपनी चपेट में ले लिया। इससे 2 मकानों में रखे सिलेंडर भी फट गए। दो ग्रामीण सिलेंडर निकालने की कोशिश में झुलस गए। साथ ही दो मवेशियों के मरने और एक ट्रैक्टर के जलकर खाक होने की भी सूचना है।

शनिवार की शाम मुंगेली सहित आसपास के इलाकों में तेज अंधड़ चली। इस दौरान बिजली के तार हिलने से शॉर्टसर्किट भी होने लगी। इसी शॉर्टसर्किट के चलते ही ग्राम दाबो निवासी गोविंद सोनवानी के पैरावट में आग लग गई। यह आग तेज अंधड़ के साथ उड़कर फैलने लगी और मकान तक पहुंच गई। फिर आसपास के पैरावट को भी चपेट में ले लिया।

देखते ही देखते आग की लपटें आसपास के मकानों तक भी पहुंच गई। इस बीच ग्रामीणों को आग बुझाने का मौका ही नहीं मिला। कई मकानों में उज्ज्वला योजना के सिलेंडर भी रखे हुए थे। उनके फटने की आशंका पर ग्रामीणों ने अपने-अपने घर से उन्हें निकालने की कोशिश भी की। इसी फिराक में दो ग्रामीण झुलस गए। वहीं दो मकानों में रखे सिलेंडरों में विस्फोट भी हुआ।

इसकी सूचना पुलिस के साथ ही आला अधिकारियों को दी गई। सूचना मिलते ही मुंगेली से दमकल रवाना किया गया। लेकिन, जब तक दमकल गांव पहुंची, गांव के करीब 40 मकान जलने लगे थे। पुलिस व दमकलकर्मी मकानों में लगी आग को बुझाने की कोशिश करते रहे। आग की सूचना मिलते ही एसडीएम सुमित अग्रवाल, एसडीओपी ओम चंदेल, तहसीलदार राकेश साहू सहित अन्य अधिकारी देर रात तक गांव में जुटे रहे।