फिल्म का नाम: डियर माया
डायरेक्टर: सुनैना भटनागर
स्टार कास्ट: मनीषा कोइराला, श्रेया चौधरी, मदीहा इमाम
अवधि: 2 घंटा 11 मिनट
सर्टिफिकेट: U
रेटिंग: 2 स्टार
कैंसर जैसी बीमारी को मात देने के बाद एक्ट्रेस मनीषा कोइराला 'डियर माया' फिल्म से बॉलीवुड में कमबैक करने जा रही हैं. जानते हैं कैसी बनी है ये फिल्म और कैसी है इसकी कहानी...

कहानी:
शिमला में बेस्ड यह कहानी दो अच्छी दोस्त एना (मदीहा इमाम) और इरा (श्रेया चौधरी) की है. दोनों बड़े ही नटखट स्वभाव की हैं और यही कारण है कि दोनों मिलकर तय करती हैं कि वो पड़ोस की माया देवी (मनीषा कोइराला) को चिट्ठियां लिखा करेंगी. 

दोनों बहुत सी चिट्ठियां माया के नाम पर लिखकर उसके घर भेजती रहती हैं, लेकिन एक दिन ऐसा आता है जब माया गायब हो जाती है और कहानी में कई मोड़ आने लगते हैं. लड़कियों के ऊपर भी संदेह किया जाने लगता है. अब क्या माया देवी का पता चल पाएगा. आखिर उसके गायब होने की वजह क्या है. इसका पता आपको थिएटर में जाकर ही चल पाएगा.

कमजोर कड़ियां:
- फिल्म की कहानी काफी कमजोर है, जिसे और भी क्रिस्प और बेहतर किया जा सकता था.
- इंटरवल से पहले कहानी ठीक-ठाक चलती है लेकिन सेकंड हाफ में कहानी काफी ड्रैग हो जाती है.
- इस फिल्म से मनीषा कोइराला की एक बार फिर से सिल्वर स्क्रीन पर वापसी हुई है लेकिन उनकी इस वापसी में वह दम नहीं है. उनके लिए और भी बेहतर और दमदार रोल लिखा जा सकता था.
- फिल्म में गुमशुदगी वाला एंगल है, लेकिन उसे जस्टिफाई करने में लेकर असफल रहे हैं.
- फिल्म के डायलॉग या गानों ने भी कोई बड़ी छाप नहीं छोड़ी है, जिसकी वजह से इसकी रिकॉल वैल्यू ज्यादा नहीं है.

फिल्म को क्यों देख सकते हैं:
फिल्म में डायरेक्शन अच्छा है. साथ ही शिमला की लोकेशन कमाल की है और अगर आप मनीषा कोइराला के बहुत बड़े प्रेमी हैं तो इस फिल्म को देख सकते हैं. बॉक्स ऑफिस: फिल्म की लागत बहुत ज्यादा नहीं है और वेव सिनेमा जैसे प्रोड्यूसर्स हो तो फिल्म को स्क्रीन्स मिलने में भी कोई ज्यादा दिक्कत सामने नहीं आएगी. ट्रेड पंडितों के मुताबिक, इस फिल्म की रिलीज मुनाफे का सौदा ही है.