पेरिस. स्पेन के राफेल नडाल ने इतिहास रच दिया. उन्होंने फ्रेंच ओपन के फाइनल मुकाबले में स्विट्जरलैंड के स्टान वावरिंका को 6-2, 6-3, 6-1 से हरा दिया. इस जीत के साथ ही उन्होंने रिकॉर्ड 10वीं बार ये खिताब अपने नाम किया. नडाल ने वावरिंका को सीधे सेटों में 6-2, 6-3, 6-1 से मात दी. यह नडाल के करियर का 15वां ग्रैंड स्लैम खिताब है. वहीं वावरिंका अपने चौथा ग्रैंड स्लैम और दूसरा फ्रेंच ओपन खिताब जीतने से चूक गए.

वावरिंका ने सर्वोच्च वरीयता प्राप्त ब्रिटेन के एंडी मरे को पहले सेमीफाइनल में मात देते हुए फाइनल में प्रवेश किया तो वहीं नडाल ने ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम को दूसरे सेमीफाइनल में परास्त कर फाइनल का टिकट कटाया.

2005 में पहली बार जीता था खिताब

नडाल ने अपना पहला फ्रेंच ओपन खिताब 2005 में जीता था. इसके बाद 2006, 2007, 20080 2010, 2011, 2012, 2013 में भी खिताब अपने नाम किया. वहीं इस खिताब से पहले उन्होंने 2014 मे फ्रेंच ओपन पर कब्जा जमाया था. अब दो साल बाद एक बार फिर इस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया है.

इसलिए कहते हैं नडाल को क्ले कोर्ट किंग
वावरिंका ने 2015 में फ्रेंच ओपन खिताब जीता था. फ्रेंच ओपन में नडाल की बादशाहत का यह आलम है कि 2005 के बाद से सिर्फ 2016 में नोवाक जोकोविच, 2009 में रॉजर फेडरर और 2015 में वावरिंका ही पेरिस में एकल खिताब जीत सके हैं.