'मध्य प्रदेश किसान आंदोलन में पुलिस की गोली से मारे गए किसानों के परिवार से मिलने जा रहे हैं. हमें जानबूझकर रोकने की कोशिश की जा रही है लेकिन जिनका रोकने का काम है वो रोकें, हम मंदसौर जाएंगे. और किसानों के परिवारों से मिलेंगे.'
यह कहना है कि पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल का. सोमवार शाम को उदयपुर की सीमा से राजस्थान पहुंचने के बाद हार्दिक ने यह बात कही. गुजरात से उदयपुर पहुंने पर प्रतापनगर चौराहे पर समाज के लोगों ने किया स्वागत.
हार्दिक का यहां पटेल नवनिर्माण सेना के जिलाध्यक्ष गेहरीलाल डांगी के नेतृत्व में स्वागत किया गया. इस अवसर पर हार्दिक ने कहा कि हमें जानबूझकर रुकने की हो रही कोशिश. उनका काम रोके, हम किसानों के परिजनों से मिलेंगे. यहां से उनका काफिला प्रतापनगर चौराहे से डबोक के लिए रवाना हुआ.
बता दें कि हार्दिक के मंगलवार को अपने समर्थकों के साथ मध्यप्रदेश के मंदसौर रवाने जाने की संभावना है. पटेल नवनिर्माण सेना के जिला अध्यक्ष गेहरी लाल डांगी ने बताया कि हार्दिक पटेल अहमदाबाद से सडक मार्ग के जरिये सोमवार शाम तक उदयपुर पहुंचेंगे और उसके बाद नामरी पंचायत में समाज के स्नेह भोज में शामिल होंगे.