पटौदी: थाना बिलासपुर के गांव जमालपुर में कार के अंदर बंद हो जाने से 2 जुड़वां बहनों की मौत हो गई। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। गांव जमालपुर में 2 जुड़वां बहनें हर्षिता और हर्षा (5) पुत्री गोविंद सिंह खेलते-खेलते घर के बाहर खड़ी कार में जा छिपीं। कार में सैंटर लॉक होने के कारण गाड़ी अंदर से बंद हो गई। गर्मी ज्यादा होने के कारण दोनों बहनों का दम घुट गया जिससे उनकी मौत हो गई। हर्षा व हर्षिता हर काम साथ-साथ करती थीं। जन्म से लेकर मौत भी उन्हें साथ ही मिली।हर्षिता और हर्षा के पिता गोविंद फौज में हैं। उनकी तैनाती इन दिनों मेरठ में है। मंगलवार शाम करीब चार बजे दोनों घर के बाहर खेल रही थीं।

 

शाम साढ़े छह बजे तक दोनों के घर के अंदर नहीं गई तो हर्षा की मां नूतन ने बाहर आकर देखा तो बच्ची कहीं नजर नही आई। जिसके बाद लड़कियों की खोजबीन शुरू हो गई। पूरे गांव में खोजबीन के बाद भी दोनों बहनें नहीं मिलीं। इसी बीच किसी ने परिजनों को बताया कि दोनों कार के पास खड़ी थीं। जिसके बाद घरवालों ने कार के दरवाजे खोले तो हर्षा आगे की सीट पर तथा हर्षिता पीछे की सीट पर मरणासन्न हालत में मिली। परिजन दोनों को अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने देखते ही दोनों को मृत घोषित कर दिया। बेटियों की मौत की खबर सुनकर उनकी मां का बुरा हाल है।