स्वर्णिम प्रदेश के शिल्पकार

अनिता प्रभा मध्य प्रदेश पुलिस में डीसीपी बन गई हैं। प्रभा ने ये कारनामा 25 साल की उम्र में कर दिखाया है। मध्य प्रदेश के अनूपपुर जिले के छोटे से इलाके की रहने वाली प्रभा के जीवन में काफी कठिनाइयां आईं लेकिन उन्होंने उनका डटकर सामना किया। अनीता बचपन से ही पढ़ाई में होनहार रहीं हैं। बता दें कि अनीता प्रभा ने 10वीं में 92 प्रतिशत अंक हासिल किए थे। वह आगे पढऩा चाहती थीं, लेकिन उनके परिवार में लड़कियों को ज्यादा पढ़ाए-लिखाए जाने का चलन नहीं था। 12वीं पास करते ही साल 2009 में महज 17 साल की उम्र में उनकी शादी कर दी गई। यहीं से अनीता के जीवन की परीक्षा शुरू हो गई। अनीता के पति उनसे उम्र में 10 साल बड़े थे। 

अनीता की पढऩे की जिद के आगे ससुराल वाले भी झुकने को पर मजबूर हो गए। अनीता प्रभा को ससुराल वालों ने ग्रेजुएशन करने की तो परमिशन दे दी। ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में पति का एक्सीडेंट हो गया जिस कारण उसे अपना एग्जाम छोडऩा पड़ा। अगले साल उन्होंने फिर ग्रेजुएशन फाइनल ईयर की परीक्षा दी और वह पास हो गई। लेकिन तीन साल में ग्रेजुएशन पूरी ना करने के कारण उन्हें प्रोबेशनरी बैंक ऑफिसर पोस्ट के लिए रिजेक्ट कर दिया गया। वहीं अनीता ने परिवार की आर्थिक मदद के लिए ब्यूटीशियन का कोर्स किया और पार्लर में काम करना शुरू किया।

बता दें कि अनीता प्रभा ने ट्रेनिंग के दौरान ही एमपीपीएससी की परीक्षा दी थी जिसका रिजल्ट भी आ गया। उन्होंने परीक्षा पास कर ली थी. पहले ही प्रयास में महिला कैटेगरी में वह 17वें स्थान पर आईं और सभी कैटेगरी में वह 47वें नंबर पर रहीं। अनीता डीएसपी रैंक के लिए चयनित हो गईं। वर्तमान में भोपाल में बतौर डीएसपी अपनी सेवाएं दे रहीं अनीता के जज्बे को सलाम...