ठीक ही कहा गया है कि अगर दिल जवां हो तो उम्र आप पर हावी नहीं होती. यह बात महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले की 70 साल की रेखा जोगलेकर ने अकेले साइकिल से भारत घूमने का फैसला कर साबित कर दिया है.

रेखा पिछले 3 साल से साइकिल से देश घूम रही हैं. अब तक लगभग 4000 किलोमीटर तक यात्रा कर चुकी हैं. इस साल उनका लक्ष्य अमरनाथ तक साइकिल से अकेले जाना है. आपको यह जान कर आश्चर्य हो सकता है! लेकिन खास बात ये है कि रेखा के लिए ये फैसला लेना आसान नहीं था.

 

किसी भारतीय महिला के लिए इस उम्र में अपनी गृहस्थी छोड़कर निकल जाना आसान नहीं था. लेकिन तमाम उलझनों के बाद भी रेखा जोगलेकर ने अपनी आने वाले पीढ़ी को प्रेरणा देने का काम किया है. उनके इस जज्बे को देख कर यह कहना गलत नहीं होगा कि ‘उम्र है पचपन की, लेकिन दिल है बचपन का’.

 

आपको बता दें कि एमए, बीएड तक पढ़ाई कर चुकी रेखा जिला परिषद में केंद्र प्रमुख रह चुकी है. रिटायरमेन्ट के बाद कुछ अलग करने के इरादे से उन्होंने साइकिल से देश भ्रमण करने फैसला किया.