रिकॉर्डों के बेताज बादशाह स्विट्जरलैंड के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने रिकॉर्ड आठवीं बार विंबलडन खिताब जीतकर इतिहास रच दिया है। तीसरी सीड फेडरर ने रविवार को खेले गए पुरुष एकल के फाइनल में क्रोएशिया के मारिन सिलिच को 6-3, 6-1, 6-4 से पराजित कर यह उपलब्धि हासिल की। फेडरर इस खिताब को आठ बार जीतने वाले विश्व के पहले खिलाड़ी बन गए हैं।
फेडरर ने ब्रिटेन के विलियम रेनशॉ (07) और अमेरिका के पीट सम्प्रास (07) को पीछे छोड़ दिया है। फेडरर के खाते में अब 19 ग्रैंड स्लैम खिताब हो गए हैं। विंबलडन को जीतने के लिए वर्ष के पहले ग्रैंड स्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद से ही रणनीति बनानी शुरू कर दी थी।

उन्होंने ऑस्ट्रेलियन ओपन के बाद खुद को क्ले कोर्ट सीजन से दूर रखा। उनका यह फैसला फायदेमंद साबित हुआ। बेहतरीन रिटर्न, बैकहैंड और तेज दिमाग के साथ फेडरर ने पहले सेट में सिलिच की दो बार सर्विस ब्रेक की। दूसरे सेट में सिलिच काफी थके और पिछड़ते नजर आए। जिसका फायदा फेडरर ने उठाया और दूसरा सेट आसानी से 6-1 से जीत लिया। फेडरर दो ग्रैंड स्लैम सहित पांच टूर्नामेंट इस सत्र में जीत चुके हैं।

खिताबी जीत के बाद फेडरर की रैंकिंग में भी इजाफा होगा। वह अब नंबर तीन पर पहुंच जाएंगे। 35 वर्षीय फेडरर खिताबी मुकाबला खेलने वाले दूसरे सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बने। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के केन रोसवॉल ने 1974 में 39 साल की उम्र में फाइनल खेला था। हालांकि वह फाइनल में हार गए थे।