आंखों पर नंबर का चश्मा न लगाना पड़े इसलिए तो कुछ फैशन के खातिर अपनी आंखों की पुतली का रंग बदलने के लिए कॉन्टेक्ट लेंस का उपयोग करते हैं. लेकिन इन्हें लगाने के बाद यदि सावधानी नहीं बरती जाए तो आपका हाल भी इंग्लैंड की उस महिला की तरह हो जाएगा, जिसकी आंखों से डॉक्टरों ने हाल ही में 27 कॉन्टेक्ट लेंस ऑपरेट कर निकाले हैं.

ये चौंकाने वाला मामला इंग्लैंड के वेस्ट मिडलैंड्स का है. जहां रहने वाली 67 साल की महिला सालों से कॉन्टेक्स लेंस का इस्तेमाल करती हुई आ रही थी. कुछ समय पहले उन्हें अचानक आंखों में परेशानी शुरू हुई और बाद में उनकी देखने की क्षमता पर भी असर पड़ने लगा.

डॉक्टर के पास चैकअप के लिए पहुंचने पर उन्हें बताया गया कि उनका मोतियाबिंद का ऑपरेशन करना पड़ेगा. इसके बाद सर्जरी की तारीख तय की गई. महिला को जब ऑपरेशन थिएटर में ले जाया गया और सर्जरी शुरू की गई तो डॉक्टर के सामने चौंकाने वाला खुलासा हुआ.

महिला की सर्जरी करने वाली डॉक्टरों की टीम की एक सदस्य ने मीडिया को बताया कि जैसे ही आंख का ऑपरेशन शुरू किया गया तो पुतली पर से उन्होंने जो लेयर हटाई वो प्लास्टिक की निकली.

एक-एक कर उस परत को जब बाहर निकाला गया तो डॉक्टरों को एहसास हुआ कि ये सभी कॉन्टेक्ट लेंस हैं, जो आंख के अंदर ही एक दूसरे से चिपक गए थे और महिला की पुतली पर जमे हुए थे. डॉक्टरों ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि उनमें से किसी ने भी कभी ऐसा केस नहीं देखा था.

महिला की आंखों में से लेंस निकालने के बाद मोतियाबिंद का ऑपरेशन टाल दिया गया. बताया जा रहा है कि महिला काफी समय से डिजॉल्व होने वाले कॉन्टेक्ट लेंस का इस्तेमाल करती हुई आ रही थी. ऐसे में उन्हें भी इसका एहसास नहीं हुआ कि वो एक के ऊपर एक लेंस लगा रही है, जो बाद में एक-दूसरे से चिपकते हुए वहीं जम गए.