सारा दिन घर से बाहर रहकर जब शाम को वापिस आने पर ही आराम मिलता है। खासकर औरतें तो अपने रूम में ही खुद को फ्रैश महसूस करती हैं। नाइट सूट में जो आराम मिलता है वह जींस और टॉप में कहा। इसके अलावा लड़कियां तो घर आकर फ्री होना चाहती हैं और रात को सोेते समय ब्रा पहनना भी पसंद नहीं करती क्योंकि यह लगातार अंजरगारर्मेंट पहनने से भी सेहत को नुकसान पहुंचता है। वहीं कुछ लड़कियां फैशननेबल आउटफिट्स के साथ-साथ कंफर्टेबल कपड़े पहनना ज्यादा पसंद करती हैं। अगर अंडरगार्मेंट्स की फिटिंग ही अच्छी न हो तो ड्रैसिस की बेढ़गी सी लगने लगती हैं। आपकी अपनी ही गलतियों से पैंटी खराब हो जाती हैं। जिन पर शायद आप ध्यान नहीं दे पाते। 


फैब्रिक की गलती
लड़कियां सिर्फ डिजाइन को देखकर भी अंडरगार्मेंटस खरीद लेती हैं। सैटिन,नेट और सिल्क की पैंटिज देखने में चाहे अच्छी लगती हैं लेकिन यह आरामदायक बिल्कुल भी नहीं होती। कॉटन फैब्रिक बैस्ट है। रोजाना पहनने के लिए सिर्फ कॉटन की पैंटी का ही इस्तेमाल करें। 

गंदी पैंटी 
सारा दिन गर्मी और पसीने के कारण शाम को अंडरगार्मेंट गंदे हो जाते हैं। जिससे प्राइवेट पार्ट पहनने से इंफैक्शन होने का डर रहता है। रात को सोने से पहले पैंटी जरूर बदलें। 

सही साइज न पहनना
पैंटी खरीदते समय अपने साइज का भी पूरा ख्याल रखें। टाइट पैंटी पहनने से रैशेज होने का डर रहता है। यह न तो लूज होनी चाहिए और न ही टाइट। हमेशा अपने साइज के हिसाब से ही अंडरगार्मेंट्स पहने। कपड़ों की फिटिंग अच्छी आएगी। 

खराब पैंटी को न फैंकना
हर चीज की तरह पैंटी की भी एक्सपायरी डेट होती है।यह 6-8 महीने ही चलती है। इसको धोने में की गई लापरवाही से यह जल्दी खराब हो जाती है। यह इसकी इलास्टिक खराब और फैब्रिक डल हो जाए तो इसे फैंक दें।