राम चंद्र दास परमहंस की पुण्यतिथि पर बुधवार को अयोध्या पहुंचे सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या का विकास हम सबका दायित्व होना चाहिए. इस दौरान सीएम ने कहा कि अयोध्या विवाद बातचीत से सुलझना चाहिए. उन्होंने कहा​ दोनों ही पक्ष सुप्रीम कोर्ट की सलाह मानें. बातचीत से विवाद सुलझाने की कोशिश करें. सुप्रीम कोर्ट की सलाह पर फिर विचार करें दोनों पक्ष.

उन्होंने कहा कि पूज्य महाराज जी के पुण्यतिथि के अवसर पर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए मैं यहां आया हूं.  इस देश में आजादी के बाद के सबसे बड़े सांस्कृतिक आंदोलन श्री राम जन्मभूमि आंदोलन की अलख जगाने का कार्य पूज्य महंत रामचंद्र दास जी महाराज ने किया था. पूज्य संतो ने अशोक सिंघल जी के साथ मिलकर इस को आगे बढ़ाया था.

आज पूज्य महाराज जी के देहांत के 14 वर्ष के उपरांत के बाद हम देश धर्म और समाज के लिए उनके द्वारा किए गए इस कृत्य के लिए कृतज्ञता के लिए यहां आए हैं.

सीएम योगी ने कहा कि गोरक्ष पीठ का संबंध राम मंदिर आंदोलन से रहा है. अयोध्या से गोरक्ष पीठ का संबंध पुराना रहा है. उन्होंने कहा कि मैं बार-बार अयोध्या आया हूं, और आऊंगा. मेरे अयोध्या आने में किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए. अयोध्या, काशी ने दुनिया को संस्कृति दी है. भारत की पहचान राम और बुद्ध से है.

पश्चिमी देशों में भी राम की परम्परा दिख रही है. थाईलैंड के राजा खुद को राम का वंशज मानते हैं. भारत का कोई बच्चा नहीं जो राम को नहीं जानता. भगवान राम को बच्चा-बच्चा जानता है. हर साल रामलीला का आयोजन होता है. जगह-जगह कथा व्यास भी राम की महिला गा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अयोध्या के हाल बुरे हैं. ये न केवल हमारी सांस्कृतिक धार्मिक विरासत है बल्कि ऐतिहासिक विरासत है. न जाने किन कारणों से इन्हें उपेक्षित रखा गया है.

सीएम ने कहा कि मोदी जी की सरकार आने के बाद से श्रीराम सर्किट और श्रीकृष्ण सर्किट के जरिये पूरे देश को सांस्कृतिक धागे से जोड़ना है. अगर आवश्यकता पड़ी तो एक बड़ा राम सेतु का निर्माण भी रामेश्वरम में होगा.

उन्होंने कहा कि इंडोनेशिया मुस्लिम देश है,वहां भी रामलीला होती है. इंडोनेशिया में राम की संस्कृति आज भी बसती है. विरोध करने वाले इंडोनेशिया की संस्कृति से सीखें. अयोध्या के सभी घाटों का पुनर्उद्धार होगा. अयोध्या में बंद पड़ी रामलीला को फिर से शुरू करना है, मथुरा में रासलीला का मंचन, सरयू आरती का चलन फिर से शुरू हो, चित्रकूट में कीर्तन शुरू हो, ये सब अभियान के हिस्से है. अयोध्या का विकास हम सबका दायित्व होना चाहिए.  सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या आतंकवाद, भ्रष्टाचार के खिलाफ नया आयाम दे सकता है. नदियों में प्लास्टिक को न डालें, गंदगी न करें. सरयू समेत सभी नदियों की स्वच्छता का ध्यान रखें. भारत की संस्कृति को कौन बचाएगा, इसके लिए संत आगे आयें.