खुरई। खुरई विकासखंड की ग्राम पंचायत खजरा हरचंद में शमशानघाट के लिए मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने बर्ष 2014-15 में 5.61 लाख की राषि स्वीकृत की थी, लेकिन निर्माण एजेन्सी द्वारा अधूरा कार्य कराने से षमषानघाट में अधूरे टीन षेड निर्माण होने से बारिस में अंतिम संस्कार के लिए मृतक के परिजनो और ग्रामीणो को काफी परेषानीयों का सामना करना पड़ता है।
खजरा हरचंद गांव में षमषान घाट की जगह में वाडंड्रीवाल एवं गेट तो लग गया है लेकिन अंतिम संस्कार करने के लिए टीन षेड का कार्य अधूरा होने से बारिस के समय ग्रामीणो को अंतिम संस्कार करने में परेषानी होती है। ग्रामीणो का कहना है कि लंबे समय से षमषानघाट का निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है। निर्माण एजेन्सी द्वारा गुणवत्तापूर्ण कार्य न करने एवं निर्माण कार्य में देरी करने से गांव वालो को वारिस के समय काफी दिक्कतों के बीच मृतक का अंतिम संस्कार करना पड़ता है।


पूरे परिसर में उंगी घांसफूस
शमशान घाट के परिसर की पंचायत द्वारा समय समय पर सफाई न करवाने से पूरे परिसर में घांसफूस खड़ी है। खड़ी हुई घांसफूस में जहरीले जीवजंतु छुपे होने की आशंका के कारण अंतिम संस्कार में जाने पर डर लगता है। पंचायत द्वारा षमषानघाट परिसर की सफाई एवं टीन षेड का अधूरा निर्माण पूर्ण न होने से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।  ग्रामीणो का कहना है कि क्षेत्र में जहां करोड़ो रुपयों के विकास कार्य हो रहे है, वहां प्रषासन इस पंचायत के षमषानघाट का अधूरा डला निर्माण कार्य को पूरा कराने की ओर घ्यान नहीं दे रहे।