आदतन आरोपी पर पहले से ही सात प्रकरण दर्ज
सागर।
गत ३१ जुलाई को थाना मोतीनगर क्षेत्रातंर्गत अबोध बालिका के साथ हुई दुष्कृत्य की घटना में आरोपी को पकडऩे में पुलिस को सफलता मिल गई है। पुलिस ने दुष्कृत्य के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी नाबालिग है। इस मामले की जानकारी  कंट्रोल रूम में हुई प्रेस वार्ता में एसपी सत्येन्द्र शुक्ला ने पत्रकारों को दी।
एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए आईजी सतीश कुमार सक्सेना एवं उप पुलिस महानिरीक्षक राकेश जैन द्वारा घटना स्थल का भ्रमण किया गया था। साथ ही आईजी श्री सक्सेना द्वारा घटना की तत्काल पतासाजी और अज्ञात आरोपी की गिरफ्तारी के लिए 25 हजार रू के नगद पुरस्कार की घोषणा की थी।
 घटना के बाद एसपी सत्येन्द्र कुमार शुक्ल द्वारा  घटनास्थल के भ्रमण एवं निरीक्षण उपरांत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पांडेय एवं नगर पुलिस अधीक्षक गौतम सोलंकी के नेतृत्व में  टीम का गठन किया गया। गठित टीम के द्वारा घटना के सभी पहलुओं पर बारीकी से जांच-पड़ताल की गई एवं घटनास्थल से मौलिक एवं भौतिक साक्ष्य संकलित किये गये।
 घटना की जांच-पड़ताल के दौरान यह तथ्य सामने आया कि घटना 16 वर्ष से 18-20 वर्ष के लाल शर्ट व जींन्स पहनें किसी युवक द्वारा कारित की गई है। इसी आधार पर घटनास्थल के आसपास और क्षेत्र के संदिग्ध व्यक्तियों की पतासाजी की गई। घटना के लगभग 48 घंटे के बाद, इस घटना को कारित करने वाले व्यक्ति को चिहिंत कर लिया गया। घटना घटित करने वाले चिंहित किये गये व्यक्ति की गतिविधियों एवं क्रियाकलापों की सतत् एवं सूक्ष्म निगरानी कराते हुये, संभावित स्थानों पर लगातार तलाश की गई। बीती रात्रि चिंहित व्यक्ति के घर आने की संभावना पाई गई एवं इसी आधार पर थाना प्रभारी आलोक परिहार की टीम घर के आसपास उपस्थित थी एवं जैसे ही यह चिंहित व्यक्ति घर पहुंचा तो पुलिस टीम द्वारा घेराबंदी कर उसे पकड़ा गया एवं उस व्यक्ति से पंूछतांछ करने पर उसने घटना घटित करना स्वीकार किया। इस व्यक्ति के संदर्भ में, प्रकरण में अग्रिम विधिक कार्यवाही की जा रही है।
एसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना घटित करने वाले व्यक्ति का पूर्व आपराधिक इतिहास रहा है, इसके पूर्व यह व्यक्ति वर्ष 2013 से अभी तक कुल आठ घटनाओं में संलिप्त रहा है जिसमें मारपीट, शीलभंग एवं चोरी आदि मामले रहे है।
इस व्यक्ति के आपराधिक पृष्ठभूमि को दृष्टिगत रखते हुए उम्र निर्धारण हेतु पुन: चिकित्सीय परीक्षण कराया जा रहा है। घटना घटित करने वाले व्यक्ति को पकडऩे एवं विवेचना आदि कार्यवाही करने वाले पुलिस टीम के अधिकारी कर्मचारियों आलोक सिंह परिहार, थाप्र मोतीनगर,  बीएम द्विवेदी, थाप्र केन्ट, उप निरी  निमिषा, सउनि बी.एल पटैल, प्र.आर पूरन सिंह एवं आरक्षक गण- दुर्गेश, वीरेन्द्र शर्मा, अमित पटैल, विक्रम, विष्एाु यादव, नरेन्द्र, भोला यादव, अमित चौबे, मुकेश दुनेरिया, शरद तिवारी तथा नगर सैनिक राजेन्द्र ठाकुर को पुलिस महानिरीक्षक सागर जोन द्वारा पुरूस्कृत किया जावेगा।