चम्पावत के पाटी थाने में एक युवती ने एक युवक पर बलात्कार का आरोप लगाया है. ख़ास बात यह है कि युवती ने यह आरोप तब लगाया जब उसके गर्भवती होने का पता चलने के बाद पति ने उसे घर से निकाल दिया.

शिकायतकर्ता युवती का कहना है कि 28 मई को उसकी अल्मोड़ा के दिनेश (बदला हुआ नाम) से शादी हुई थी. शादी के बाद दिनेश को पत्नी पर शक हुआ तो उसने उसका अल्ट्रासाउंड करवाया.

अल्ट्रासाउंटड से तय हो गया कि युवती को करीब आठ महीने का गर्भ है. इस पर उसके पति ने उसे घर से निकाल दिया.

बेघर हो गई युवती ने फिर चंपावत के पाटी थाने में बलात्कार की शिकायत दर्ज करवाई. उसने कहा कि रिखोली गांव का कुंदन नाम का युवक लंबे समय से उसका बलात्कार कर रहा था

शिकायत के अनुसार आठ महीने पहले कॉलेज से वापस आते समय कुंदन ने उसके साथ ज़बरदस्ती की थी. इसेके बाद वह परिवार को मारने की धमकी देकर उसके साथ दुष्कर्म करता रहा.

डर की वजह से पीड़िता अपने परिजनों को इस बारे में नहीं बता पाई. युवती का कहना है कि उसके गर्भ में आठ महीने का बच्चा है और उसे दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं.

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है.