लंदन . पुरुषों में इन्फर्टिलिटी की समस्या से मुक्ति पाने की एक उम्मीद सामने आई है। कुछ वैज्ञानिकों ने प्रयोगशाला में स्पर्म सेल बनाने का दावा किया है। बता दें कि प्रत्येक 500 में से एक व्यक्ति में एक्स और वाई क्रोमोसोम होते हैं जो स्पर्म प्रॉडक्शन में बाधा उत्पन्न करते हैं। 

नर चूहों का इस्तेमाल करके लंदन के फ्रांसिस क्रिक इंस्टिट्यूट के वैज्ञानिकों मल्टिपर्पज स्टेम सेल्स का निर्माण किया है। जब इन सेल्स को नर चूहों में प्रवेश कराया गया तो उनके अंदर स्पर्म प्रॉडक्शन बढ़ गया, जिससे वे मादा चूहाें को फर्टिलाइज भी कर सके। यदि इसी तकनीक का इस्तेमाल पुरुषों के लिए भी किया जाता है तो वे भी भविष्य में पिता बनने का सपना देख सकते हैं। हालांकि यूके जैसे देशों में इस ट्रीटमेंट को आगे बढ़ने के लिए कुछ कानूनों में भी बदलाव करना होगा। यूके में बच्चे पैदा करने के लिए आर्टिफिशल स्पर्म प्रॉड्यूस करने पर प्रतिबंध है। 

स्टेम सेल्स को फर्टाइल स्पर्म बनाना संभव है, हालांकि इस प्रक्रिया में काफी समय और मेहनत लगती है। यह जानकारी फ्रांसिस क्रिक इंस्टिट्यूट के वैज्ञानिकों ने दी।