गूगल के मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम का अगला वर्जन 'ऐंड्रॉयड o' अमेरिका में आधिकारिक रूप से लॉन्च हो गया है। गूगल पर रविवार देर रात को जारी एक रिपोर्ट में बताया गया था,'21 अगस्त को समूचे अमेरिका में 1918 के बाद सूर्यग्रहण का नजारा देखने को मिलेगा। ऐंड्रॉयड आपको इस ऐतिहासिक प्राकृतिक घटना का अनुभव लेने और समझने में मदद कर रहा है और इसी दौरान आप ऐंड्रॉयड की कई नई सुपर (स्वीट) शक्तियों से भी रूबरू होंगे, जिसका खुलासा न्यूयॉर्क सिटी में गूगल ऐंड्रॉयड ओ लॉन्चिंग के दौरान की जाएगी।'

ऐंड्रॉयड 8.0 वर्जन में नई पिक्चर इन पिक्चर मोड, नई नोटिफिकेशन डॉट और ब्लूटूथ ऑडियो प्लेबैक में सुधार देखने को मिलेगा। हाल में ही लांच किए गए प्रीमियम स्मार्टफोन्स जैसे सैमसंग गैलेक्सी एस8, एस 8प्लस और एचटीटी यू11 के लिए इस साल के अंत तक ऐंड्रॉयड ओ सॉफ्टवेयर अपडेट जारी करने की उम्मीद की जा रही है। नवीनतम आंकड़ों के मुताबिक ऐंड्रॉयड पर चलने वाली 85 फीसदी डिवाइसें अभी तक पिछले साल जारी ऐंड्रॉयड नूगा का भी अपडेट हासिल नहीं कर पाई हैं।

ऐंड्रॉयड के इस अगले अपडेट के साथ आप चैट करते-करते यूट्यूब के विडियो भी देख पाएंगे। फिलहाल ऐंड्रॉयड टीवी में यह फंक्शनैलिटी है लेकिन हैंडसेट्स में साधारण मल्टि-विंडो व्यू ही इस्तेमाल होता है। अगर आपके पास गूगल फोन नहीं है, तो आपको ऐंड्रॉयड के लेटेस्ट वर्जन के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता होगा। लेकिन गूगल O के लॉन्च के बाद इंतजार की यह मियाद कम हो जाएगी। आपको 'ट्रेबल' नाम के एक फीचर से जल्दी अपडेट्स मिल सकेंगे।

इसमें 'नोटिफिकेशन डॉट्स' की भी सुविधा होगी जो नए कॉन्टेंट के लिए बैज को सपॉर्ट करेगी। आप होमस्क्रीन पर प्रिव्यू पेन भी ऐड कर सकेंगे और आइकन और ऐप के कुछ खास शॉर्टकट क्रिएट कर पाएंगे। अलग-अलग ऐप्स के एक जैसे नोटिफिकेशन देखकर परेशान हो जाते हैं? ऐंड्रॉयड अब एक जैसे नोटिफिकेशन्स को क्लब कर देगा। इन्हें अब भी संबंधित ऐप ही मैनेज करेंगे, लेकिन यूजर तय कर पाएंगे कि अब हर चैनल पर चीज़ें कैसी नज़र आएंगी। इससे आपका नेविगेशन प्रोसेस आसान हो जाएगा। इससे डिवेलपर्स और यूजरों दोनों को ही सुविधा होगी।

अगर आप ऐंड्रॉयड 7.0 इस्तेमाल कर रहे हैं, तो आप अब उन ऐप्स को बंद कर पाएंगे जो बैकएंड पर रन कर पावर खाते रहते हैं और आपको पता ही नहीं चलता। ऐंड्रॉयड O के साथ आप ऐप्स की प्राथमिकता तय कर सकते हैं और पावर और बैटरी बचा सकते हैं।