पल्लेकल (श्री लंका) .  टीम इंडिया के खिलाड़ियों द्वारा उनकी जर्सी में खामियों की शिकायत के बाद स्पोर्ट्स प्रॉडक्ट्स तैयार करने वाली कंपनी नाइकी ने खिलाड़ियों को नई जर्सी उपलब्ध करा दी है। खिलाड़ियों की शिकायत के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के साथ कंपनी का करार मुश्किल में पड़ सकता था। इस डील को बचाने के लिए कंपनी ने अपने एक प्रतिनिधि को श्री लंका भेजा।

कंपनी ने मंगलवार को खिलाड़ियों से प्रतिक्रिया लेने के बाद उन्हें नई जर्सियां उपलब्ध करा दीं। टीम इंडिया यहां गुरुवार को होने वाले दूसरे वनडे से पहले वैकल्पिक अभ्यास सत्र में हिस्सा ले रही थी। यूं तो टीम इंडिया की यह नई जर्सी दिखने में पहले जैसी ही है, लेकिन बताया गया है कि इस बार इसमें सुपीरियर क्वॉलिटी के कपड़े का इस्तेमाल किया गया है। 

कपंनी के प्रतिनिधि ने नई जर्सी पर खिलाड़ियों की राय लेने से पहले उनकी तस्वीरें क्लिक कीं। इस संदर्भ में खिलाड़ियों को कंपनी की ओर एक क्वेस्चनायर भी दिया गया। रोहित शर्मा और महेंद्र सिंह धोनी ने जर्सी की क्वॉलिटी पर बात करने के लिए यहां नाइकी के प्रतिनिधि के पर्याप्त समय बिताया। इससे पहले भारतीय खिलाड़ियों ने उन्हें मिलने वाली जर्सी की खराब क्वॉलिटी को लेकर शिकायत की थी। बीसीसीआई के सीईओ राहुल जोहरी और जीएम (खेल विकास) रत्नाकर शेट्टी ने इस मामले को सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासनिक समिति (CoA)के सामने भी रखा।  बहरहाल नाइकी द्वारा जर्सी बदलने के बाद अब लग रहा है कि यह मामला सुलझ गया है। बता दें कि नाइकी साल 2006 में भारतीय क्रिकेट टीम का ऑफिशियल स्पॉन्सर बना था। पिछले साल उन्होंने करीब 370 करोड़ की डील कर बोर्ड के साथ अपना कॉन्ट्रेक्ट 2020 तक के लिए बढ़ाया है।