राजस्थान की मांडलगढ़ से बीजेपी विधायक कीर्ति कुमारी की सोमवार को स्वाइन फ्लू से मौत हो गई. विधायक कीर्ति का राजधानी जयपुर के अस्पताल में इलाज चल रहा था.
कीर्ति कुमारी पिछले कुछ दिन पहले H1N1 वायरस की चपेट आई थीं और स्वाइन फ्लू की पहचान होने के बाद से उनका इलाज जयपुर के फोर्टिस अस्पताल में चल रहा था. कीर्ति के निधन से मांडलगढ़ विधानसभा क्षेत्र के गांवों में शोक की लहर छा गई . कीर्ति का अंतिम संस्कार उनके पैतृक निवास बिजौलियां में होगा.

पूर्व विधायक प्रदीप कुमार सिंह ने कीर्ति कुमारी के निधन पर गहरा दुख प्रकट किया है. कीर्ति कुमारी ने प्रदीप कुमार सिंह के विरुद्ध 2008 में विधानसभा का चुनाव लड़ा था. कांग्रेस ने संगठन चुनावों को लेकर सोमवार को मांडलगढ़ में होने वाली बैठक को कीर्ति के निधन के कारण स्थगित कर दिया है.

2000 में जिला परिषद के चुनाव में फराया था जीत का परचम

कीर्ति कुमारी का जन्म 13 अगस्त 1967 को हुआ था. उन्होंने 15 दिन पूर्व ही 50वां जन्म दिन मनाया था. वर्ष 2000 में वे जिला परिषद का चुनाव लड़ा विजयी हुई. सीएम वसुंधरा राजे की विश्वस्त होने के कारण 2003 में भाजपा का विधानसभा का टिकिट मिला. पूर्व मुख्यमंत्री शिव चरण माथु से वे 800 मतों से पराजित हुई. 2008 में दोबारा उन्हें टिकिट मिला तो कांग्रेस के प्रदीप कुमार सिंह से 1488 मतों से हार गयी थी. वर्ष 2013 के चुनावों में उन्होंने कांग्रेस के विवेक धाकड़ को 16 हजार मतों से हराया था. मृदुभाषी कीर्ति सदैव खुश मिजाज रहती थी. उनके दो भाई और तीन बहनें हैं. पिता राव चन्द्रवीर सिंह गायत्री परिवार के प्रखर विद्वान है.