यूपी में गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज (बीआरडी) में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है। पिछले 48 घंटों में इस अस्पताल में 42 बच्चों की जान जा चुकी है। कॉलेज के प्रिंसिपल पीके सिंह ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि इनमें से 7 बच्चों की जान इन्सेफेलाइटिस और बाकियों की मौत अलग-अलग कारणों से हुई है।

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि बीआरडी कॉलेज में इतनी तादाद में बच्चों की जान गई हो। इसी साल 10 अगस्त की रात को ऑक्सिजन की सप्लाई में बाधा से कई बच्चों की मौत हो गई थी। इस मामले में यूपी सरकार ने कड़ी कार्रवाई भी की थी।

उस वक्त कॉलेज के तत्कालीन प्रिंसिपल राजीव मिश्रा और इंसेफलाइटिस वॉर्ड के इंचार्ज कफील को उनके पद से हटा दिया गया था। बाद में एसटीएफ ने राजीव मिश्रा को कानपुर में गिरफ्तार किया था। कफील को दबोचने की कोशिश में अभी भी एसटीएफ जुटी हुई है और इस सिलसिले में उनके राजघाट स्थित घर पर सोमवार देर रात छापा भी मारा गया था। गौरतलब है कि बीआरडी कॉलेज में बच्चों की मौत मामले में योगी आदित्यनाथ सरकार की काफी किरकिरी हुई थी। ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद अस्पताल का दौरा किया था। सीएम ने भरोसा दिलाया था कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा और जांच के बाद उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।