चिकन, बतख, बकरे या अन्‍य जानवर को मारे बिना आपको उनका मांस मिल जाएं, यह सुनने में अजीब लग सकता है, लेकिन सच है. सिलिकन वैली के एक स्‍टार्टअप मेमफिस मीट्स ने इसे संभव कर दिखाया है. इस क्रांतिकारी टेक्‍नोलॉजी के तहत जानवरों या पक्षियों के लिविंग सेल्‍स यानी जीवित कोशिकाएं सुई देने वाली सिरिंज से लेकर उन्‍हें लैब में कृत्रित तरीके से डेवलप किया जाता है. इस प्रक्रिया में 4 से 6 सप्‍ताह का समय लगता है. इसके बाद यह मांस पकाने और खाने लायक बन जाता है, जिसमें सामान्‍य मांस की तरह ही प्रोटीन और अन्‍य पोषक तत्‍व होते हैं.

64 लाख करोड़ रुपए का हो सकता है इसका बाजार
दुनियाभर के वैज्ञानिकों का मानना है कि यह टेक्‍नोलॉजी इतनी क्रांतिकारी है और इसके विकास की संभावनाएं इतनी अधिक हैं कि इसका मार्केट एक ट्रिलियन डॉलर यानी लगभग 64 लाख करोड़ रुपए का हो सकता है. मांग इतनी अधिक हो सकती है कि उसे पूरा करना फिलहाल संभव नहीं लगता.

काफी कम लगते हैं संसाधन

चिकन, मटन या बीफ पाने की प्रक्रिया काफी लंबी होती है. इसके लिए बाकायदा मुर्गियां, बकरे आदि कुछ महीनों या सालों तक पालने होते हैं, लेकिन टेक्‍नोलॉजी पर आधारित इस प्रक्रिया से मांस डेवलप करने में कम समय के साथ ही परंपरागत प्रक्रिया में यूज होने वाली जमीन का इसमें एक फीसदी और पानी का 10 फीसदी ही यूज होता है.

नई जरूरतों से जन्‍मी है यह
यह ऑर्गेनिक मांस की बढ़ती मांग की परिणति है, जो परंपरागत व्‍यवस्‍थाओं से अधिक टिकाऊ और एनीमल और पर्यावरण फ्रेंडली है. दुनियाभर में प्रोटीन के स्रोत के रूप में मांस की मांग लगातार बढ़ रही है, जिसकी पूर्ति करना परंपरागत स्रोतों से संभव नहीं लग रहा है.

संस्‍कृति और परंपरा के अनुकूल भी है यह
भारत समेत दुनिया के कई मुल्‍कों में बड़ी संख्‍या में लोग मांसाहारी नहीं हैं, जो परंपरागत सिस्‍टम का विरोध करते हैं. इसके अलावा, परंपरागत तरीके से मिलने वाले मांस में बीमारियों, पर्यावरणीय प्रदूषण और संक्रमण का भी अंदेशा रहता है. लेकिन नया तरीका इन मामलों में भी पहले की तुलना में काफी अच्‍छा है.

लैब में इन चीजों का होता है उपयोग
एनीमल के लिविंग सेल्‍स की ग्रोथ के लिए लैब में ऑक्‍सीजन, शुगर और अन्‍य पोषक तत्‍व दिए जाते हैं.

टॉप अमीर कर रहे हैं इसमें निवेश
सिलिकन वैली के इस स्‍टार्टअप में माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स, वर्जिन एयरलाइंस के सीईओ रिचर्ड ब्रैंसन, जनरल इलेक्ट्रिक के सीईओ जैक वेल्‍च जैसे लोगों ने निवेश किया है. दुनिया के अन्‍य टॉप रईस भी इसमें दिलचस्‍पी दिखा रहे हैं.