राजस्थान के जोधपुर शहर में एक सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थियेटर में गर्भवती महिला की सी-सेक्शन सर्जरी के दौरान दो डॉक्टर आपस में लड़ने लगे. डॉक्टरों के झगड़े के चलते महिला के ऑपरेशन में देरी हुई और उसके नवजात की मौत हो गई.  इस झगड़े का एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें दोनों डॉक्टर लड़ते नजर रहे हैं.

वीडियो वायरल होने के बाद राजस्थान हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए मामले की रिपोर्ट से मांगी है. हाईकोर्ट के जस्टिस गोपालकृष्ण व्यास ने मामले पर संज्ञान लेते हुए उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति के उपसचिव धीरज शर्मा और पूर्णकालीन सचिव प्रेमरतन ओझा को निर्देश दिए हैं.  आपको बता दें कि शहर के उम्मेद अस्पताल के गायनिक डॉक्टर अशोक नैनीवाल और एनेस्थेटिक डॉक्टर एमएल टाक के इस झगड़े का एक वीडियो भी सामने आया है. इस वीडियो में दोनों डॉक्टर ऑपरेशन छोड़कर झगड़ते नजर आ रहे हैं. 

जब यह झगड़ा हो रहा था वहां ऑपरेशन थियेटर की टेबल पर एक महिला बेहोश पड़ी थी. महिला की हालत देखते हुए उसे तत्काल सर्जरी की जरूरत थी लेकिन डॉक्टर उसे नजरअंदाज कर आपस में झगड़ पड़े.

डॉक्टरों के इस आपसी झगड़े के चलते महिला के ऑपरेशन में देरी हुई और नवजात ने जन्म के कुछ ही देर बाद दम तोड़ दिया. इस वीडियो के वायरल होने के बाद अस्पताल प्रशासन ने दोनों डॉक्टरों को एपीओ  (पदस्‍थापन के आदेश के इंतजार) कर दिया है.