नई दि्ल्लीः रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने करीब 40 डिफॉल्टर्स की लिस्ट बैंकों को सौप दी है। जानकारी के मुताबिक इस लिस्ट में कई बड़ी कंपनियों के नाम हैं जिसमें वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज,  जेपी एसोसिएट्स,  उत्तम गाल्वा, आई.वी.आर.सी.एल., एस्सार प्रोजेक्ट्स शामिल हैं। इनमें से करीब 25 कंपनियां ऐसी हैं जिनके नाम एस.बी.आई. को भेजे गए हैं।

बैंकों को डिफॉल्टर्स से लोन के निपटारे के लिए दिसंबर तक का समय दिया गया है। अगर लोन का निपटारा नहीं होता है इन कंपनियों को इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत एन.सी.एल.टी. के पास भेजा जाएगा। इन कंपनियों को एन.सी.एल.टी. के पास भेजा जाएगा।बैंकों को 26 डिफॉल्टरों की दूसरी सूची भी भेजी है। रिजर्व बैंक ने बैंकों से कहा है कि इन सभी डिफॉल्टरों को दिवालिया घोषित करने से पहले इनसे कर्ज वसूली की प्रक्रिया शुरू करे।

 

आरबीआई ने कॉमर्शियल बैंकों से कहा है कि वह पहले अपने नियम के तहत इन डिफॉल्टरों के कर्ज की वसूली करने की कोशिश करें। ऐसा हो पाने पर सभी डिफॉल्टरों को बैंकरप्सी कानून के तहत दिवालिया घोषित करें। कर्ज वसूलने के लिए केन्द्रीय बैंक ने सभी बैंकों को 13 दिसंबर तक का समय दिया है। रिजर्व बैंक की इस दूसरी लिस्ट में शामिल की गई कंपनियां खासतौर पर पावर, टेलिकम्यूनिकेशन, स्टील और इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर से हैं. केन्द्रीय बैंक ने अपनी सूची में उन कंपनियों को शामिल किया है जिनपर 30 जून तक किसी बैंक के कर्ज का 60 फीसदी बकाया है।