देवरी कॅला। आजादी के 7 दशक बाद भी ग्रामीण क्षेत्रो में चल रही दबंगो की बादशाहत के सामने सरकारी विभाग एवं जनप्रतिनिधि भी बौने साबित होते है। ताजा वाकया विकासखण्ड के ग्राम जैतपुर  कोपरा का है जहाँ गुरूवार दोपहर गांव के दबंग ने शासकीय मध्यमिक स्कूल के क्लास रूम में घुसकर12 वर्षीय छात्रा के साथ मारपीट कर दी। मामले को लेकर कक्षा शिक्षक एवं विद्यालय प्रशासन की चुप्पीके बाद पीडि़त छात्रा ने पिता के साथ आकर देवरी थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई है।
 देवरी मुख्यालय से 12 किलोमीटर स्थित ग्राम जैतपुर  कोपरा में स्थित शासकीय माध्यमिक विद्यालय में अध्ययनरत कक्षा 7 की छात्रा कु. प्रियंका पिता मूरत अहिरवार का गुरूवार दोपहर सहपाठी छात्र विवाद हो गया था जिसके बाद उक्त छात्र की शिकायत पर आये उसके पिता रामा उर्फ रामजी दांगी 40 वर्ष  ने माध्यमिक शाला कें क्लास रूम बैठी छात्रा से गाली गलौच कर जान से मारने की धमकी दी एवंबाल पकड़करउसका सिर दीवार से मार दिया।
 उस दौरान मौजूद शिक्षक तमाशा देखते रहे मगर किसी ने उक्त मामले में हस्तक्षेप नही किया। न ही विद्यालय प्रशासन द्वारा घटना की सूचनावरिष्ठ अधिकारियों या पुलिस को दी गई। पीडि़त छात्रा स्कूल से अपने घर गई और  पिता को बताया पिता द्वारा डायल 100 को सूचना दी सो नंबर द्वारा देवरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां पर उपचार के बाद पुलिस थाना देवरी में मामला 294 323 506 एससी एक्ट के तहत  दर्ज किया गया।माध्यमिक शाला के अंदर घुसकर छात्रा से मारपीट की घटना को लेकर विद्यालयप्रशासन एवं विभाग द्वारा चुप्पी साधे रहना शिक्षा बिभाग की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़ा करता है ।इस संबंध में बीआरसी अशोक बलैया का कहना है कि आपके द्वारा दलित छात्रा से स्कूल में घुसकर बाहरी व्यक्ति द्वारा  मारपीट का मामला संज्ञान में आया है विद्यालय प्रबंधन से जानकारी लेकर दोषी के खिलाफ दंडात्मक कार्यवाही की जावेगी।

पांच सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत अधिकारी, कर्मचारी रहे हड़ताल पर
खुरई।
संघ यूनाईटेड फ ोरम फॉर पावर इमपलाईन एवं इंजीनियरिंग के बैनर तले विधुत विभाग के अधिकारीए कर्मचारी एक दिनी हड़ताल पर रहे। पांच सूत्रीय मांगो को लेकर यह कदम उठायाए सुबह से कर्मचारियों ने विधुत विभाग के मुख्य गेट पर ताला डाल दिया था। सभी गेट के पास बैठकर  असहयोग आन्दोलन का समर्थन करते हुये हड़ताल पर रहेए दिन भर किसी भी विधुत कर्मचारी ने कोई कार्य नहीं किया। हड़ताल मे मुख्य रूप से एस.के. गुप्ता, मुकेश मरसकोलेए अरुण तिवारी,के.एम.ताम्रकार, यू.के.दुबे,राजेन्द्र साहू,तुलाराम नंदराम, जगतसिंह, माखन, आर डी पांडे, मनीष कौल,आदि शामिल रहे।