छात्राओं ने लगाए पौधे, लिया पर्यावरण संरक्षण का संकल्प
रायसेन।
प्रदेश सरकार के प्राथमिकता के कार्यक्रम नदी अभियान के अंतर्गत स्थानीय शासकीय आदर्श कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय रायसेन की ईको  क्लब  इकाई की छात्राओं ने नीम के पौधे वितरित किए तथा पर्यावरण बचाने के लिए सामूहिक संकल्प दिलाया। इस अवसर पर डीएफओ उत्पादन एचसी गुप्ता, प्राचार्य श्रीमती एमडी दाहिया, क्लब प्रभारी श्रीमती रूपाली जाधव सहित अन्य शिक्षक उपस्थित थे। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में छात्राओं को बताया गया कि भारत की नदियां मुख्य रूप से वर्षा जल से पोषित होती हैं लेकिन वनों के कारण नदियां साल भर बहती हैं।
बारिश का मौसम खत्म होने के बाद भी बारहमासी नदियां बहती रहें, इसमें पेड़ों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जल संरक्षण के लिए अधिक से अधिक संख्या में वृक्षारोपण जरूरी है। पेड़ की जड़ें मिट्टी को छेददार बना देती हैं जिससे वह बारिश के समय पानी सोख लेती है और उसे थाम कर रखती है। मिट्टी में मौजूद यह जल साल भर धीरे-धीरे नदी में मिलता रहता है। अगर पेड़ नहीं होंगे, तो बाढ़ तथा सूखे का विनाशकारी चक्र चलता रहेगा। मानसून के दौरान अधिक पानी सतह पर आ जाएगा और बाढ़ लाएगा क्योंकि मिट्टी बारिश के पानी को नहीं सोखेगी। मानसून के समाप्त होने के बाद नदियां सूख जाएंगी क्योंकि उन्हें पोषित करने के लिए मिट्टी में नमी नहीं होगी। इसीलिए नदियों के दोनों ओर पेड़ों का होना बहुत जरुरी है।