देवरिया। ब्रह्मर्षि देवरहा बाबा की स्थली देवरिया में बदले की आग में जल रहे एक इंसान ने हैवान बनकर ऐसी वारदात को अंजाम दे डाला जिसे सुनकर किसी का भी सिर शर्म से झुक जायेगा। तीन वर्ष की अपनी पुत्री के साथ दुष्कर्म करने वाले को सबक सिखाने को उसने अपने दो साथियों की मदद से आरोपित की नाबालिग बहन का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म की घिनौनी घटना को अंजाम दे डाला। अब पुलिस मुख्य आरोपी को हिरासत में लेकर उसके साथियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापे मार रही है।

देवरिया के सलेमपुर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में छह महीने पहले एक युवक ने तीन वर्ष की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया था। तब पुलिस ने पिता की तहरीर पर केस दर्ज कर आरोपित युवक को जेल भेज दिया था। तीन साल की बेटी के साथ दुष्कर्म के बाद से उसका पिता प्रतिशोध की आग में जल रहा था। उसने दुष्कर्म को अंजाम देने वाले युवक को सबक सिखाने के नाम पर खुद एक और सामूहिक दुष्कर्म की साजिश रच डाली।

वह दुष्कर्म के आरोपित युवक की नाबालिग बहन पर नजर रखने लगा। उसने शौच के लिए खेत की ओर गई किशोरी को नशीला पदार्थ सुंघा कर बेहोश कर दिया। इसके बाद दो अन्य लोगों की मदद से वह उसे लेकर गोरखपुर चला गया

गोरखपुर में उन तीनों ने मिलकर किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। दरिंदो ने 29 अगस्त की भोर में अर्धबेहोशी की हालत में किशोरी को गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर छोड़ दिया। वहां जीआरपी ने किशोरी को उठाया।

पूछताछ में किशोरी से उसके गांव का पता चलने पर जीआरपी ने सलेमपुर भिजवा दिया।

घर पहुंची किशोरी ने परिवारवालों को रो-रोकर अपने साथ हुई दरिंदगी की पूरी कहानी बता दी। इसके बाद किशोरी की मां ने थाने पर तहरीर दी और पुलिस ने मुख्य आरोपी को हिरासत में ले लिया। कोतवाल ने दावा किया कि अन्य आरोपियों को भी जल्द ही पकड़ लिया जायेगा।