किसी भी व्रत-त्योहार या मंदिर में लोग अक्सर प्रसाद के साथ ही नारियल चढ़ाते हैं। साथ ही वह डर जाता है कि उसकी मांगी गई मुराद पूरी नहीं होगी। मगर, शास्त्रों में माना जाता है कि नारियल का अंदर से खराब निकलना शुभ है।

मगर, कभी-कभी नारियल का गोला अंदर से खराब निकलता है। यदि आपके साथ भी कभी ऐसा हो, तो दुखी न हों। कई लोगों को नारियल के खराब निकलने पर डर होता है कि उनकी मनोकामना शायद पूरी नहीं होगी।

मगर, शास्त्रों में माना जाता है कि अगर नारियल अंदर से खराब निकलना शुभ है। पूजा में चढ़ाया गए नारियल के खराब निकलने का मतलब यह नहीं है कि आपके साथ कुछ अशुभ होने वाला है। शास्त्रों में कहा गया है कि इसके द्वारा भगवान यह संकेत देते हैं कि उन्होंने भक्त की पूजा स्वीकार कर ली है।

विद्वानों का मानना है नारियल के खराब निकलने का अर्थ है कि जिस भी मनोकामना के लिए पूजा की गई है, वह जरूर पूरी होगी। वहीं, अगर नारियल सही निकलता है, तो तो उसे सभी के बीच बांट देना चाहिए। जितने अधिक लोगों में आप नारियलय प्रसाद बांटेंगे, उतना आपके लिए शुभ होगा।

इस से पूजा का फल सभी लोगों को मिल जाता है। वैसे भी भक्त और भगवान में भावना का संबंध होता हैं। इसलिए यदि नारियल खराब भी निकले, तो भी भक्तों को यह विश्वास रखना चाहिए कि भगवान हमेशा उसका शुभ ही करेंगे।